दमदम पार्क में दिन-दहाड़े शूटआउट, प्रमोटर पर चली गोली

सिंडिकेट का मामला होने का संदेह

कोलकाता : शनिवार को दमदम पार्क इलाके के एक निर्माणाधीन बहुमंजिली इमारत के सामने दिन-दहाड़े 2 अज्ञात लोगों ने शूटआउट की घटना को अंजाम दिया। इस दौरान उन्होंने एक प्रमोटर शेखर दत्त पर गोली चलायी और किसी के कुछ समझने से पहले ही वहां से फरार हो गये। गोली शेखर के दाहिने हाथ में लगी और उसे तुरंत बाईपास के एक गैर-सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां ऑपरेशन कर गोली निकाली गयी। सुबह-सुबह इस तरह की घटना से इलाके के लोग अचंभित हैं। घटना सुबह करीब 11 बजे इलाके के 4 नंबर टैंक के पास एक निर्माणाधीन बहुमंजिली इमारत के सामने घटी जब शेखर दत्त अपने निर्माणाधीन प्रोजेक्ट का एक फ्लैट दिखाने के लिए एक ग्राहक को साथ लेकर गये थे। इस मौके पर उनका एक साथी चिरदीप राय भी उपस्थित था। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि प्राय: हर दिन ही शेखर दत्त व चिरदीप राय अपने कंस्ट्रक्शन साइट पर आते थे। इस दिन भी वे आये लेकिन उनके साथ फ्लैट देखने के लिए ग्राहक भी थे। तभी अचानक एक बाइक पर सवार 2 लोग मुंह पर काला कपड़ा बांधकर वहां आंधी की रफ्तार में आये, बाइक से उतरे और उन लोगों को निशाना बनाकर गोली चला दी। एक के बाद एक कई गोलियांं चलीं जिनमें से एक गोली शेखर के दाहिने हाथ में लगी और वह तुरंत जमीन पर गिर गया। घटना को अंजाम देने के साथ ही गोली चलाने वाले दोनों युवक तुरंत बाइक पर बैठकर वहां से फरार हो गये। प्रत्यक्षदर्शियों का अनुमान है कि गोली चिरदीप और शेखर दोनों पर चलायी गयी थी लेकिन चिरदीप बच गया और गोली शेखर को लगी थी। एक गोली शेखर के कान को छूती हुई निकल गयी। खबर पाकर दमदम और लेकटाउन थाना की पुलिस मौके पर पहुंची। विधाननगर के कई उच्च अधिकारी व डीडी विभाग के अधिकारियों ने घटनास्थल पर पहुंचकर वहां का जायजा लिया। डीडी की टीम ने स्थानीय लोगों व प्रोजेक्ट में काम कर रहे राजमिस्त्र‌ियों व प्रत्यक्षदर्शियों से पूछताछ कर उनके बयान रिकॉर्ड किये। लेकटाउन थाने की पुलिस ने घटनास्थल को घेर दिया है और पूरे इलाके के सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाले जायेंगे। स्थानीय लोगों से पूछताछ करने पर पता चला है कि शेखर बागुईआटी थाना अंतर्गत देशबंधुनगर इलाके का रहने वाला है और लंबे समय से प्रमोटिंग के काम से जुड़ा है। बगल की एक इमारत के फ्लैट में रहने वाले एक व्यक्ति ने बताया कि गोली की आवाज सुनकर लगा कि जैसे कोई पटाखा फोड़ रहा है, लेकिन जब लोगों ने शोर मचाना शुरू किया तब जाकर पता चला कि यह तो शूटआउट है। जिस महिला की जमीन पर यह नया कंस्ट्रक्शन हो रहा था वह महिला भी बगल के ही एक फ्लैट में रहती है। महिला ने बताया कि इस इलाके में कभी भी इस तरह की घटना नहीं घटी। मेरी ही जमीन पर इमारत का निर्माण हो रहा है लेकिन कभी भी जमीन को लेकर या किसी और चीज को लेकर हमारे बीच कोई समस्या नहीं हुई। इधर घटना के बाद से ही हमला के पीछे के कारण को लेकर आरोपों-प्रत्यारोपों का बाजार गर्म हो चुका है। घटना के कुछ ही देर बाद स्थानीय विधायक सुजीत बोस भी घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने इस हमले के पीछे सिंडिकेट को कारण बताया और आरोप लगाया कि स्थानीय भाजपा नेता पीयूष कानोड़िया का इसमें हाथ है।

क्या कहा भाजपा नेताओं ने

भाजपा नेता पीयूष कानोड़िया ने इस बारे में सन्मार्ग को बताया कि यह सब तृणमूल के आपसी सिंडिकेट का नतीजा है, मैं उस इलाके में भाजपा करता हूं जिस कारण मुझ पर आरोप लगाये जा रहे हैं। गोली चलाने आये बदमाशों के साथ पीयूष कानोड़िया का संपर्क होने के आरोपों पर उन्होंने कहा कि जो समाजविरोधी तृणमूल के साथ भाजपा कार्यकर्ताओं को मारते हैं, पार्टी कार्यालय पर हमला करते हैं, उनके साथ मेरा संपर्क कैसे हो सकता है। प्रशासन जल्द से जल्द असली दोषियों का पता करे तभी सच्चाई सबके सामने आयेगी। इधर, भाजपा के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने इस घटना को लेकर कहा कि यह तृणमूल के आपसी झमेले के कारण हुआ है। उन्होंने कहा कि बंगाल में तृणमूल प्रमाेटर राज चला रही है। कटमनी राज, रंगदारी राज के कारण ही यह सब हो रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कल्याणकारी योजना का लाभ दिए जाने में हुई गड़बड़ी शीघ्र होगी दूर : सीता सोरेन

दुमका : झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) की वरिष्ठ नेता और दुमका जिले में जामा की विधायक सीता सोरेन ने कहा कि पूर्व में अयोग्य लोगों आगे पढ़ें »

नक्सलियों को 15 लाख की लेवी देने जा रहा ठेकेदार गिरफ्तार

औरंगाबाद : बिहार में नक्सल प्रभावित औरंगाबाद जिले के अम्बावार तरी के निकट एक संदिग्ध वाहन से 15 लाख रुपये जब्त कर संवेदक समेत दो आगे पढ़ें »

ऊपर