तारापीठ गए बिहार के मंत्री के साथ होटल कर्मियों की झड़प

रामपुरहाट (बीरभूम): तारापीठ स्थित एक होटल में बिहार के नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा के साथ झड़प का आरोप लगा है। उनके सुरक्षा कर्मी द्वारा यहां के एक होटल में तोड़फोड़ करने का आरोप लगा है। आरोप है कि होटल कर्मियों के साथ मारपीट भी की गयी। आरोप है कि मौके पर पहुंचे अन्य होटल कर्मियों को देखकर मंत्री तथा उनके सुरक्षा कर्मी फरार हो गये। जानकारी के अनुसार बिहार के मुजफ्फर नगर से भाजपा विधायक सह नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा नये साल को लेकर तारापीठ पहुंचे थे। यहां एक निजी संस्था के माध्यम से उन्होंने तारापीठ स्थित सोनार बांग्ला होटल में 4 कमरों को 15 हजार रुपये में बुक किया था। होटल के मैनेजर सुनील गिरि ने बताया कि मंत्री तथा उनके सुरक्षा कर्मियों ने होटल पहुंचकर रिसेप्शन पर होटल में नहीं ठहरने की बात कहकर बुकिंग की राशि वापस देने की मांग की। वहीं होटल कर्मी ने बताया कि ऑनलाइन बुकिंग होने पर रकम को वापस कर पाना संभव नहीं है। होटल कर्मियों की बात से नाराज होकर उन लोगों ने होटल कर्मी को गालियां दीं। इस दौरान सुरक्षा कर्मियों ने होटल कर्मियों की पिटाई कर दी। सुरक्षा कर्मियों ने रजिस्टर के साथ कंप्यूटर को भी फेंक दिया। वहीं शोर- शराबा सुनकर वहां पहुंचे अन्य होटल कर्मियों को देखकर मंत्री तथा उनके सुरक्षा कर्मी गाड़ी छोड़कर फरार हो गये। दूसरी तरफ मंत्री सुरेश शर्मा के लोगों का कहना है कि होटल द्वारा सर्दी के मौसम में एसी चार्ज किये जाने को लेकर शिकायत की गयी थी। वहीं गलती स्वीकार करने के बजाय होटल कर्मियों ने मंत्री व सुरक्षा कर्मियों के साथ दुर्व्यवहार किया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। इस बारे में बीरभूम के पुलिस अधीक्षक एन.सुधीर कुमार ने कहा कि मंत्री व होटल कर्मियों के साथ झड़प का मामला सामने आया है। हम सीसीटीवी फुटेज खंगाल रहे हैं। जांच के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा कि वास्तव में क्या हुआ था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मय बंद्योपाध्याय ने जेल से रिहा होते ही बताया जान को खतरा

कहा राज्य में चल रहा जंगल राज संवाददाताओं से बातचीत के दौरान फूट-फूटकर रोने लगे सन्मार्ग संवाददाता पुरुलिया : सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट किये जाने के कथित आगे पढ़ें »

दीपावली पर ड्रोन से नजर रखेगा पीसीबी ऊंची इमारतों पर

प्रतिबंधित पटाखे जलाने पर आवासन के अध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई वसूला जाएगा 5 हजार से लाख रुपए तक का जुर्माना दोषी पाए जाने पर होगी 5 साल आगे पढ़ें »

ऊपर