डॉक्टर प्रिसक्रिप्शन के बाद ही होगा कोविड-19 का टेस्ट

कोरोना के साथ ही डेंगू पर भी केएमसी की लगातार मॉनिटरिंग
कोलकाता : कोलकाता नगर निगम की सतर्कता के बावजूद कोराेना की दहशत अब लोगों पर भारी पड़ने लगी है। लिहाजा हल्की सी सर्दी खांसी होते ही लोग कोरोना की जांच कराने के लिए अस्पताल पहुंच जाते हैं। कोलकाता नगर निगम ने फैसला लिया है कि अब डॉक्टर के प्रिसक्रिप्शन के बाद ही कोरोना की जांच की जाएगी। कोलकाता नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग से यह जानकारी मिली है। अब उन्हीं की जांच की जाएगी जिनमें डॉक्टर के प्रिसक्रिप्शन पर कोविड का जांच स्पष्ट रूप से लिखा हो। कोई भी व्यक्ति केवल संदेह के आधार पर खुद का टेस्ट कराना चाहे तो उसे इसकी अनुमति नहीं मिलेगी। निगम के प्रशासक फिरहाद हकीम ने कहा कि आईसीएमआर के निर्देशानुसार ही कोलकाता नगर निगम ने यह निर्णय लिया है। किसी भी संदिग्ध को पहले डॉक्टर से चेकअप कराना होगा उसके बाद ही अगर डॉक्टर उसे कोविड-19 टेस्ट कराने की सलाह देते हैं तो वह किसी भी आईसीएमआर से स्वीकृति प्राप्त टेस्टिंग सेंटर में कोविड-19 का टेस्ट करा सकता है। कोलकाता नगर निगम अंतर्गत विभिन्न वार्डों में हो रहे कोविड-19 टेस्ट के दौरान भी इस नियम को माना जाएगा। उल्लेखनीय है कि बोरो 9 में हुई बैठक के दौरान प्रशासक दल के सदस्य अतिन घोष के साथ ही निगम के स्वास्थ्य अधिकारी भी मौजूद रहे।
उल्लेखनीय है कि निगम कोरोना के साथ ही डेंगू के मामलों को भी निगरानी कर रहा है। इसके लिए सभी कोऑर्डिनेटर को अलर्ट कर दिया गया है। कंटेंटमेंट जोन पर भी कोलकाता नगर निगम की लगातार निगरानी बनी रहेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

1 मछली पकड़ कर वृद्धा बन गयी लखपति

दक्षिण 24 परगना : सामुद्रिक एक भोला मछली पकड़ कर एक वृद्ध लखपति बन गयी है। यह घटनासागर ब्लाॅक के चखफूलडूबी इलाके की है। हुगली आगे पढ़ें »

महामारी के बीच मित्रता निभाने के लिए मालदीव ने संरा में भारत की सराहना की

संयुक्त राष्ट्र: मालदीव ने कोविड-19 वैश्विक महामारी के बीच द्वीप राष्ट्र की मदद के लिए 25 करोड़ डॉलर की वित्तीय सहायता मुहैया कराने पर भारत आगे पढ़ें »

ऊपर