डेंगू के बाद अब चिकनगुनिया ने बढ़ाई चिंता

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः महानगर में डेंगू के कहर के बाद अब चिकनगुनिया ने भी स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है। भले ही इसके मामले अधिक नहीं हैं, कुछ मामलों के सामने आने के बाद और अधिक जागरूकता की सलाह स्वास्थ्य विभाग दे रहा है। डेंगू के अब तक करीब 48 हजार से अधिक मामले सामने आए हैं।
डॉ.एस.के.अग्रवाल ने बताया कि चिकनगुनिया के वायरस का असर सबसे ज्यादा हड्डियों पर है। इस कारण व्यक्ति को चलने-फिरने या हाथों से किए जाने वाले साधारण काम करने में परेशानी होती है। ठीक होने के बाद भी मरीज हड्डियों के दर्द से परेशान रहता है और दर्द जाने में महीनों का वक्त लग जाता है।
जागरूकता ही उपायः
इस बीमारी से बचने के लिए जागरूकता ही एकमात्र उपाय है। ज्वर व शरीर के ज्वाइंट में अधिक दर्द होने पर डॉक्टरी परामर्श लें। कहीं भी खुले में पानी रुकने या जमा न होने दें। छत पर टूटे-फूटे डिब्बे, टायर, बर्तन, बोतलें आदि न रखें या उसे रखे तो उलटा करके रखें। पानी की टंकी को अच्छी तरह बंद करके रखें।
राज्य में चिकनगुनिया के मामले इस प्रकारः
वर्ष- कुल मामले
2018- 23
2017- 577
2016- 117
2015- 61

शेयर करें

मुख्य समाचार

मालदह में युवती से ‘गैंग रेप’, फिर जिंदा जलाया

हैदराबाद जैसी घटना से बंगाल स्तब्ध शव की हालत इतनी खराब कि उसकी शिनाख्त नहीं हो पायी सन्मार्ग संवाददाता मालदहः हैदराबाद सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड जैसी घटना गुरुवार आगे पढ़ें »

बिग बॉस 13 से बाहर होंगे सिद्धार्थ शुक्ला,जानकर दुखी हुए फैन

मुंबई : टीवी रिएलिटी शो बिग बॉस का सीजन 13 कई मायनों में सुपरहिट साबित हो रहा है और रोजाना कोई ना कोई नया विवाद आगे पढ़ें »

ऊपर