डीआरआई ने किया वन्यजीव तस्करी का भंडाफोड़, कोलकाता हवाई अड्डे से 22 दुर्लभ पक्षी बरामद

कोलकाता : राजस्व आसूचना निदेशालय (डीआरआई) ने वन्यजीव तस्करी के एक बड़े गिरोह का भंडाफोड़ कर 22 दुर्लभ पक्षी बरामद किए जिसमें हयासिंथ मकाउ तोता भी शामिल है। डीआरआई ने सोमवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि पक्षियों को बांग्लादेश से भारत लाया गया था। डीआरआई ने एक वक्तव्य जारी कर बताया कि कोलकाता हवाई अड्डे पर जब्त किए गए अन्य दुर्लभ पक्षियों में से तोते की कई प्रजातियां भी थीं। तस्करी कर लाए गए इन पक्षियों को अंतरराष्ट्रीय संधि के तहत संरक्षण प्राप्त है।
दुनिया में चौथा सबसे बड़ा संगठित अपराध
डीआरआई के मुताबिक नशीले पदार्थ, नकली सामान और मानव तस्करी के बाद अवैध रूप से वन्यजीवों की तस्करी का धंधा दुनिया में चौथा सबसे बड़ा संगठित अपराध है। वक्तव्य में कहा गया कि पश्चिम बंगाल और उत्तर पूर्वी भारत के बांग्लादेश और म्यामां की सीमा से सटे होने के कारण इन इलाकों में वन्यजीव तस्करों को आने-जाने का रास्ता मिल जाता है।
दो गिरफ्तार
डीआरआई ने कहा, ‘वन्यजीव अपराधों के खिलाफ लड़ाई में तेजी लाने की जरूरत है। इन अपराधों से पर्यावरण, समाज और अर्थव्यवस्था पर प्रभाव पड़ता है। कोविड-19 के परिप्रेक्ष्य में जीवों से फैलने वाले रोगों के प्रसार की आशंका न केवल भारत बल्कि विश्व के लिए चिंता का विषय है।’ एजेंसी ने कहा कि तस्करी के संबंध में कोलकाता के दो शिक्षित वर्ग के युवाओं को गिरफ्तार किया गया है जिनकी उम्र 30 से कम है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में तीसरे दिन भी कोरोना के 800 से ज्यादा मामले, 25 की हुई मौत

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 850 नये मामले आये है आगे पढ़ें »

कोरोना की वजह से 9वीं-12वीं के पाठ्यक्रम 30 फीसदी घटे

नयी दिल्ली : कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच स्कूलों के ना खुल पाने के कारण शिक्षा व्यवस्था पर असर और कक्षाओं के समय में आगे पढ़ें »

ऊपर