टेस्टिंग मामलों में बंगाल अब भी काफी पीछे, प्रति मिलियन टेस्टिंग का आंकड़ा 4114

सन्मार्ग संवाददाता, कोलकाताः टेस्टिंग के आंकड़ों में देश के कई हिस्सों में अब भी स्थिति काफी बेहतर नहीं है। आलम यह है कि राज्य में ही अब भी प्रति मिलियन टेस्टिंग का आंकड़ा 4114 है। भले ही इसमें धीरे-धीरे काफी वृद्धि हुई है, लेकिन इसमें और तेजी लाने की जरूरत है। जिस तेजी से कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ रहा है, उसी प्रकार टेस्ट भी बढ़ाने होंगे। कई जगहों पर रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट शुरू किया गया है, ऐसे में माना जा रहा है कि कोरोना के मामलों की ट्रेसिंग करने में और मदद मिल सकेगी।

राज्य में सिर्फ बीमार लोगों का ही टेस्ट हो रहा है

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक, पॉजिटिविटी रेट ज्यादा होने का मतलब है, राज्य में सिर्फ बीमार लोगों का ही टेस्ट हो रहा है। ऐसे में संक्रमित लोगों की पहचान नहीं हो पाती और कम्यूनिटी में संक्रमण किस हद तक फैल चुका है, इसका अंदाजा नहीं लग पाता है। डब्ल्यूएचओओ टेस्ट पॉजिटिविटी रेट को 5% से कम रखने का सुझाव देता है। देखा जा रहा है कि 10 राज्यों में टेस्ट पॉजिटिविटी रेट 5% से ज्यादा रहा है। इन राज्यों में संक्रमण का असल स्तर जानने के लिए टेस्ट बढ़ाए जाने की जरूरत है।

टेस्टिंग के स्टैंडर्ड आंकड़े को लेकर अब भी किसी प्रकार का दिशा-निर्देश नहीं

दरअसल आबादी के लिहाज से टेस्टिंग के मामले में प्रति लाख टेस्टिंग में गोवा, जम्मू कश्मीर, दिल्ली, त्रिपुरा, तमिलनाडु, अरुणाचल प्रदेश सहित कई राज्य आगे हैं। इस बारे में स्कूल ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसीन के निदेशक डॉ.प्रतिप कुमार कुण्डू ने कहा कि टेस्टिंग के स्टैंडर्ड आंकड़े को लेकर अब भी किसी प्रकार का दिशा-निर्देश नहीं है। साथ ही सटीक जांच में प्रति व्यक्ति खर्च अधिक है। जनसंख्या के हिसाब से हम जांच करने के पीछे लगेंगे, तो काफी दिक्कत होगी। फिलहाल सभी जगहों पर इसी बात पर जोर दिया जा रहा है कि कोरोना वायरस की टेस्टिंग रिजल्ट सही हो। इसके लिए प्रयास भी किए जा रहे हैं।
राज्य में इस प्रकार टेस्टिंग व्यवस्था
राज्य में टेस्ट पॉजिटिविटी रेट – 3.44%
राज्य में कुल टेस्टिंग लैब – 47
राज्य प्रति मिलियन टेस्ट
बिहार 1034 से अधिक
उत्तर प्रदेश 2079 से अधिक
झारखंड 2778 से अधिक
दिल्ली 14666
तमिलनाडु 9388
जम्मू व कश्मीर 10000 से अधिक (नोट – आंकड़े कोविड-19 इंडिया. ओआरजी से, यह आंकड़े पिछले महीनों के हैं, इसमें कुछ वृद्धि संभव)

शेयर करें

मुख्य समाचार

ओडिशा में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में चार माओवादी मारे गए

भुवनेश्वर : ओडिशा में कंधमाल जिले के एक घने जंगल में रविवार को सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ में करीब चार माओवादी मारे गए। पुलिस आगे पढ़ें »

अब ‘मोबाइल डाटा’ होगा चीन का हथियार : विशेषज्ञ

नई दिल्ली : चीन की कम्युनिस्ट पार्टी और उसकी सैन्य शाखा मोबाइल नेटवर्क और एप के जरिये एकत्र किये जा रहे भारतीयों के डाटा का आगे पढ़ें »

ऊपर