टीटागढ़ शूटआउट : मारी थी गोली मनीष को जान गयी सतीश की

बैरकपुर : टीटागढ़ के ब्रह्मस्थान के निकट सोमवार की सुबह हुई शूट आउट में घायल तृणमूल कर्मी सतीश मिश्रा की मौत हो गयी। सतीश की मौत के बाद इलाके में भारी तनाव है। किसी अप्रिय वारदात से निपटने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल और रैफ को तैनात किया गया ह‍ै। बताया जाता है कि हत्यारों के निशाने पर स्थानीय पार्षद व दबंग नेता मीनष शुक्ला थे लेकिन सतीश के सामने आने से गोली उसे लग गयी।
इलाके में जैसे मातम पसरा हुआ है। वार्ड नंबर 21 सहित टीटागढ़ पालिका के सभी 23 वार्डों में मंगलवार को दुकान, बाजार पूरी तरह से बंद रहे। तृणमूल कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह काले झंडे लगा कर प्रतिवाद जताया। व्याप्त तनाव के मद्देनजर वार्ड नंबर 21 के प्रमुख नुक्कड़ों पर रैफ व कंबैट फोर्स के जवानों को तैनात किया गया है। इस घटना में पुलिस ने कुल 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। इधर इलाके में चर्चा है कि सतीश की जान तृणमूल के ही दो गुटों में रस्साकशी​ के कारण चली गयी, हालांकि आरोप है कि माकपा और भाजपा आश्रित समाजविरोधियों की यह करतूत है। मनीष शुक्ला कई लोगों की आंखों के किरकिरी बने हुए हैं तथा अन्हें आने वाले दिनों में इस अंचल के बड़े नेताओं में एक के रूप में देखा जा रहा है। ऐसी आशंका है कि उन्हें रास्ते से हटाने के लिए यह षडयंत्र रचा गया था।
उल्लेखनीय है कि बाईपास के किनारे एक गैरसरकारी अस्पताल में सतीश को दाखिल किया गया था, जहां गत रात उसने अंतिम सांस ली। अस्पताल सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक सतीश को गोली सीने में लगी थी जिसकी वजह से उसका दिल बुरी तरह चोटिल हो गया था। बैरकपुर कमिश्नरेट की डीसी वन के.कनान्न ने बताया कि दो नामजद अभियुक्त भोला प्रसाद व अमरनाथ प्रसाद उर्फ कलुआ मुन्ना के अलावा दोनों शूटर संजय दास व शेख समीर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। भोला और कलुआ को सोमवार और शेखर व समीर को मंगलवार गिरफ्तार किया गया है। यह गिरफ्तारी सीसीटीवी फुटेज व सूत्रों के माध्यम से की गयी है। भोला और अमरनाथ टीटागढ़, संजय व शेख समीर दक्षिण 24 परगना के कैनिंग के रहने वाले हैं। शेखर व समीर दोनों की उम्र 20 के उन दोनों को खड़दह थाना के डांगादिघा से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने उनके खिलाफ हत्या करने, षड़यंत्र रचने और आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। अस्वस्थता के कारण भोला को अदालत में पेश नहीं किया जा सका, अन्य तीन अभियुक्तों को पुलिस ने बैरकपुर कोर्ट में पेश किया। इस कांड में व्यवहृत मर्डर वेपन अभी तक बरामद नहीं किया जा सका है। एसीजेएम प्रांतिक रंजन बसु ने कलुआ मुन्ना को सात और दोनों शूटरों को 14 दिनों के लिए पुलिस हिरासत में रखने का निर्देश दिया। टीआई पैरेड से दोनों शूटरों की शिनाख्त करवायी जायेगी।
स्थानीय विधायक शीलभद्र दत्त ने बताया कि सतीश मिश्रा सक्रिय तृणमूल कर्मी था, 2004 के चुनाव में उसने बूथ एजेंट के तौर पर काम किया था। उसकी मौत से पार्टी को भारी क्षति पहुंची है। वहीं खाद्यमंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक ने आरोप लगाया कि ‌जिन लोगों ने आग्नेयास्त्र व बमों से आमडांगा में हमला किया था, उन्हीं लोगों ने सतीश मिश्रा की हत्या की है। दूसरी ओर, प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने इस घटना को तृणमूल के अंतर्कलह का परिणाम बताया है। उल्लेखनीय है कि टीटागढ़ नपा के 21 नंबर वार्ड के तृणमूल पार्षद मनीष शुक्ला पर चलाई गयी गोली चूक कर उस वार्ड के पार्टी सचिव सतीश मिश्रा को लगी थी। इस कांड को अंजाम देने का आरोप अर्जुन सिंह माकपा आश्रित भोला प्रसाद पर पहले ही लगा चुका है। बता दें कि सोमवार सुबह टीटागढ़ के 21 नंबर वार्ड के पार्षद मनीष शुक्ला और सतीश मिश्रा बीटी रोड के बगल में ब्रह्मस्थान के नजदीक बन रहे कालीपूजा पंडाल के सामने खड़े थे, तभी दो समाजविरोधियों ने गोली चलायी। एक गोली सतीश को रगड़ती हुई निकल गई, जबकि दूसरी गोली उसके दिल के पास लगी। सतीश टीटागढ़ के एक कंपनी में सुपरवाइजर का काम करता था। इधर मंगलवार शाम सतीश मिश्रा का शव टीटागढ़ लाये जाने पर लोगों ने उसके शव को लेकर रैली की। रैली का नेतृत्व शीलभद्र दत्त, सुनील सिंह, मनीष शुक्ला ने किया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कल्याणकारी योजना का लाभ दिए जाने में हुई गड़बड़ी शीघ्र होगी दूर : सीता सोरेन

दुमका : झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) की वरिष्ठ नेता और दुमका जिले में जामा की विधायक सीता सोरेन ने कहा कि पूर्व में अयोग्य लोगों आगे पढ़ें »

नक्सलियों को 15 लाख की लेवी देने जा रहा ठेकेदार गिरफ्तार

औरंगाबाद : बिहार में नक्सल प्रभावित औरंगाबाद जिले के अम्बावार तरी के निकट एक संदिग्ध वाहन से 15 लाख रुपये जब्त कर संवेदक समेत दो आगे पढ़ें »

ऊपर