जेएमबी का खूंखार आतंकी बिहार से गिरफ्तार

कोलकाता : जेएमबी के खूंखार आतंकी इजाज अहमद (30) को कोलकाता पुलिस के एसटीएफ ने गिरफ्तार किया है। अभियुक्त बीरभूम के पारुई के अविनाशपुर का रहनेवाला है। वह वर्ष 2008 से ‌आतंकी संगठन जमायते मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) से जुड़ा हुआ था। संयुक्त पुलिस आयुक्त (एसटीएफ) शुभंकर सिन्हा सरकार ने बताया कि इजाज को एसटीएफ अधिकारियों ने बिहार के गया जिले के बुनियादपुर इलाके से पकड़ा है। उन्होंने बताया कि इजाज भारत में जेएमबी का ‘आमीर’ उर्फ शीर्ष नेता है और जेएमबी के मुख्य नियुक्त‌िकर्ता के रूप में काम कर रहा था। संयुक्त पुलिस आयुक्त (एसटीएफ) ने बताया कि इजाज इतने सालों तक लगातार सलाउद्दीन सलेहिन और कौसर के संपर्क में था। उसके खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। एसटीएफ के अनुसार बंगलुरू से खागरागढ़ कांड के मुख्य अभियुक्तों में एक कौसर की गिरफ्तारी के बाद संगठन के प्रधान के रूप में इजाज काम कर रहा था। वर्ष 2018 में बोध गया विस्फोट कांड के मुख्य साजिशकर्ताओं में भी इजाज शामिल था। बोध गया विस्फोट कांड के बाद जब जमातुल मुजाहिद्दीन हिंद के धुलियान मॉड्यूल के सदस्यों को एसटीएफ ने पकड़ा तभी इजाज कहीं जाकर छिप गया। अधिकारियों की मानें तो बंगाल से भागने के बाद उसने बंगलुरू और केरल में श्रमिक के तौर पर काफी दिनों तक काम किया। इसके बाद बीते कुछ महीनों से वह बिहार के गया जिले के बुनियादपुर इलाके में छिपकर रह रहा था । एसटीएफ सूत्रों के अनुसार इजाज को बंगाल के सीमांत इलाकों, त्रिपुरा और असम के कई अवैध मदरसाें में नए युवकों को जोड़कर जेएमआई का नया संगठन तैयार करने का काम सौंपा गया था। वर्ष 2014 में खागरागढ़ विस्फोट कांड के बाद कौसर व अन्य नेताओं के फरार होने के बाद इजाज को बड़े नेताओं से संपर्क रखने का दायित्व दिया गया था। बाद में कौसर की गिरफ्तारी के बाद सलाउद्दीन सलेहिन ने इजाज के नाम की घोषणा जेएमबी के भारतीय कमांडर की रूप में की थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दीपवाली पर नकली मिठाइयों से रहें सावधान, स्वास्थ हो सकता है खराब

नई दिल्ली : त्योहारों पर मिठाइयां ना हो तो त्योहारों का मजा नहीं आता। दीपावली जैसे जैसे करीब आ रही है, बाजार में मिलावटी छेना आगे पढ़ें »

आईएमएफ ने कहा, कॉरपोरेट टैक्स में कटौती स्वागत योग्य फैसला, बढ़ेगा निवेश

नई दिल्ली : अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने कॉरपोरेट टैक्स में कटौती के भारत के फैसले की तारीफ करते हुए कहा है कि यह स्वागत आगे पढ़ें »

ऊपर