जेएमबी आतंकी को चेन्नई से एसटीएफ ने पकड़ा

terrorists in Kashmir

कोलकाता : कोलकाता पुलिस के एसटीएफ की टीम ने चेन्नई से जेएमबी आतंकी असादुल्ला शेख उर्फ (35) को गिरफ्तार किया है। वह बर्दवान के भतार इलाके का रहनेवाला है। उसके पास से एक मोबाइल फोन और संदिग्ध दस्तावेज जब्त किए गए हैं। संयुक्त पुलिस आयुक्त एसटीएफ शुभंकर सिन्हा सरकार ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर एसटीएफ अधिकारियों ने मंगलवार की सुबह 10 बजे चेन्नई के निलांगराई इलाके के घर से असादुल्ला को धर दबोचा। जिस घर से असादुल्ला को पकड़ा गया वहां पर वह पिछले 3 महीने से रह रहा था। मंगलवार को उसे चेन्नई के अदालत में पेश किया गया जहां से उसे 3 दिनों के लिए ट्रांजिट रिमांड पर कोलकाता भेज दिया गया। एसटीएफ सूत्रों के अनुसार असादुल्ला चेन्नई में जेएमबी का स्लीपर सेल तैयार कर रहा था। वह चेन्नई मे बंगाल से काम करने गए श्रमिकों को संगठन से जोड़कर उन्हें ट्रेनिंग मुहैया करा रहा था। उसका मुख्य लक्ष्य जेएमबी के लिए बंगाल में स्लीपर सेल तैयार करना था ताकि समय आने पर सभी स्लीपर सेल को संगठन के काम में लगाया जा सके। एसटीएफ सूत्रों के अनुसार असादुल्ला जेएमबी के बीरभूम मॉड्यूल के लिए इजाज के साथ मिलकर काम करता था। खागरागढ़ विस्फोट कांड के बाद बीरभूम, मुर्शिदाबाद मॉड्यूल के जेएमबी सदस्यों ने दक्षिण भारत में आश्रय लिया था। उनमें असादुल्ला भी शामिल था। असादुल्ला भी मौलाना युसूफ से सिमुलिया मदरसा में ट्रेनिंग लिया था। बाद में वह खुद नए सदस्यों को ट्रेनिंग देने लगा। खागरागढ़ के बाद असादुल्ला भागकर चेन्नई चला गया। चेन्नई आने पर उसकी मुलाकात बंगलुरू में कौसर से हुई । बंगलुरू में कौसर और सलाउद्दीन से मुलाकात के बाद उन्होंने बोध गया विस्फोट कांड की साजिश रची थी। बोध गया विस्फोट को अंजाम देने के बाद असादुल्ला दोबारा चेन्नई चला गया। हालांकि इस दौरान कौसर से विवाद होने के बाद वह इजाज के साथ रहने लगा । इजाज के गिरफ्तार होने के कुछ दिन पहले तक वह गया में था। गया से भागकर वह आसनसोल पहुंचा और फिर आसनसोल से चेन्नई गया था। एसटीएफ अधिकारियों की मानें तो अब्दुल कासेम से पूछताछ के दौरान ही असादुल्ला का नाम सामने आया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

bill

नागरिकता विधेयक वापस लेने की मांग को लेकर वैज्ञानिकों, विद्वानों ने याचिका पर हस्ताक्षर किए

नयी दिल्ली : लोकसभा में पारित नागरकिता संशोधन विधेयक को वर्तमान स्वरूप को वापस लेने की मांग को लेकर एक हजार से अधिक वैज्ञानिकों और आगे पढ़ें »

रूस पर लगे खेल प्रतिबंध को पुतिन ने बताया राजनीति से प्रेरित,कहा आंकड़े गलत

पेरिस : लुसाने में वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी (वाडा) की कार्यकारी समिति की बैठक में गलत आंकड़े देने के आरोप में रूस पर चार साल आगे पढ़ें »

ऊपर