जहर, जिसकी कीमत है 6 करोड़ रुपए

भारत-बंगलादेश सीमांत डिगीपाड़ा से 6 करोड़ के सर्पविष जब्त
तस्कर इसे सिक्किम के नाथूला या नेपाल रूट से चीन भेजने की फिराक में थे
सन्मार्ग संवाददाता,सिलीगुड़ीः दजहर की कीमत 6 करोड़ रुपए। आप यह पढ़कर चौंकेगे जरूर लेनि यह घटना है दक्षिण दिनाजपुर जिले के भारत-बंगलादेश सीमांत हिली के पास स्थित डिगीपाड़ा की। वह जहर भी भेजा जा रहा था चीन। बीएसएफ 199 बटालियन के जवानों ने बड़ी सफलता हासिल करते हुए 6 करोड़ के सर्पविष को जब्त कर लिया। तस्कर इसे बंगलादेश से लेकर भारतीय सीमांत में आये थे तथा इसे सिक्किम के नाथूला या नेपाल रूट से चीन भेजने की फिराक में थे।

इस बात की सूचना थी

बीएसएफ उत्तर बंगाल फ्रंटियर के उप महानिरीक्षक राजीव रंजन शर्मा ने बताया कि हिली सीमांत क्षेत्रों में तैनात बीएसएफ स्पेशल आपरेशन ग्रूप को इस बात की सूचना मिल गयी थी। उन्होंने बताया कि बंगलादेश से सर्पविष सहित भारतीय सीमांत डिगीपाड़ा आये तस्करों ने जैसे ही बड़ी संख्या में बीएसएफ जवानों को आते देखा वे सर्पविष से भरे जार को एक स्थान पर रखकर वहां से भाग गये और स्थानीय नागरिकों के बीच छिप गये। तलाशी के दौरान बीएसएफ के जवानों ने फ्रांस की जार में रखे 2 पाउंड(0.907185 किलोग्राम) प्रोसेस्ड सर्पविष को जब्त कर लिया। उन्होंने बताया कि बंगलादेश के किसी लैब में इसे व्यवस्थित तरीके से पावडर क्रिस्टल आकार में परिवर्तित कर यहां लाया गया था। उल्लेखनीय है इस तरह प्रोसेस्ड सर्पविष की मांग चीन सहित भारतीय दवा कंपनियों में भी काफी ज्यादा है। अमूमन चीन में मुंहमांगी कीमत मिलने से तस्करों का पहला गंतव्य चीन ही होता है और वे इसे चीन भेजने के लिए विभिन्न रूटों का इस्तेमाल करते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में तीसरे दिन भी कोरोना के 800 से ज्यादा मामले, 25 की हुई मौत

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 850 नये मामले आये है आगे पढ़ें »

कोरोना की वजह से 9वीं-12वीं के पाठ्यक्रम 30 फीसदी घटे

नयी दिल्ली : कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच स्कूलों के ना खुल पाने के कारण शिक्षा व्यवस्था पर असर और कक्षाओं के समय में आगे पढ़ें »

ऊपर