जल्द शुरू हो सकती हैं उड़ान परिसेवाएं, कोलकाता एयरपोर्ट पर तैयारियां शुरू

नेहा सिंह,कोलकाता : कोलकाता एयरपोर्ट से जल्द ही उड़ान परिसेवाएं शुरु हो सकती है। इसके लिए मंगलवार को एयरपोर्ट पर तैयारियां शुरू कर दी गयी हैं। यात्री कैसे एयरपोर्ट के भीतर आएंगे, दो यात्रियों के बीच कितनी दूरी रखनी होगी, इन सभी मुद्दों पर एयरपोर्ट अधिकारियों ने बैठक की। इसके बाद मंगलवार को सेनिटाइजेशन का काम भी किया गया। ​एयरपोर्ट के फ्लोर पर मार्किंग की गयी जहां यात्री खड़े होंगे। इसके अलावा कस्टम्स, इमिग्रेशन तथा अन्य एजेंसियों के कार्यालयों की भी सफाई की गयी है। रेलवे के बाद अब हवाई सेवाएं भी शुरू करने की तैयारी की खबर ने ही लोगों के चेहरों पर मुस्कान बिखेर दी है। सूत्रों के मुताबिक मंगलवार को नागर विमानन महानिदेशलय, ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी ऑफिस, एयरपोर्ट ऑथरिटी ऑफ इंडिया तथा सीआईएसएफ की संयुक्त टीम को दिल्ली हेडक्वार्टर्स से तैयारी करने को कह दिया गया है।
शुरुआत में कम रहेगी यात्रियों की संख्या
डीजीसीए की गाइडलाइन्स जिसमें एयरलाइंसों को कहा गया है कि दो यात्रियों के बीच एक सीट खाली रखनी पड़ेगी। इससे यह उम्मीद है कि यात्रियों की संख्या एयरपोर्ट पर कम होंगी। हाल ही में केयर रेटिंग्स ने कहा था कि कोरोना वायरस महामारी के चलते चालू वित्त वर्ष के दौरान विमान यात्रियों के आवागमन में 30 फीसदी तक कमी आ सकती है, जबकि इससे पहले उसका अनुमान था कि ये आंकड़ा 20 से 25 फीसदी के बीच रहेगा। इसके साथ ही रेटिंग एजेंसी ने यह अनुमान भी लगाया था कि सामाजिक दूरी के नियमों के चलते हवाई यात्रा महंगी होगी।
जारी है जरूरी मेडिकल कार्गो उड़ान परिसेवा
कोरोना से जंग में उड्डन क्षेत्र के योद्धा फिलहाल संकट मोचन की भूमिका निभा रहे हैं। एयरपोर्ट पर सामान्य उड़ान परिसेवाएं बंद हैं लेकिन स्पेशल उड़ानें व कार्गो उड़ानों का जरूरी संचालन जारी है। इनमें एयर इंडिया, स्पाइस जेट तथा इंडिगो की कार्गो उड़ानों से कोलकाता व देश के अन्य हिस्सों में दवाइयां, ग्लब्स तथा दवाइयों को पहुंचाया जा रहा है। लॉकडाउन के दौरान एटीसी वर्क फ्रॉम होम तो रोटेशनल बेसिस पर एयरपोर्ट पर हो रहा है लेकिन यह 24×7 जारी है। ऐसा इसलिए क्योंकि कोलकाता के आसमान से लगभग 300 उड़ानें प्रतिदिन गुजरती है। कोरोना के ​खिलाफ जंग में ग्राउंड स्टॉफ भी अपनी अहम भूमिका निभा रहे हैं।
काफी कुछ बदलेगा एयरपोर्ट पर
लॉकडाउन के बाद किस तरह से तमाम बंद सेवाएं सामान्य होंगी और किस तरह से लोग सामान्य रूप से यात्राएं कर सकेंगे, इसके लिए सरकार व संबद्ध प्राधिकरणों ने तेजी से तैयारियां शुरू कर दी हैं।इन्हीं में से एक घरेलू हवाई सेवाएं जिन्हें शुरू करने के लिए विभिन्न एयरपोर्ट अथॉरिटी तेजी से तैयारियों में जुटी हैं। एयरपोर्ट प्रबंधन ने संक्रमण को रोकने एक लिए योजना तैयार की है। इसके तहत हवाई अड्डे की उन जगहों की पहचान की गई है, जहां कर्मचारी से लेकर यात्रियों तक की सहूलियतों से जुड़ी चीजें एक-दूसरे के संपर्क में आती हैं। ताकि इन चीजों को हर बार संक्रमण रहित किया जा सके और कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।
सोशल डिस्टेंसिंग का खास ध्यान
यात्रियों के बीच सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए मार्किंग की गयी है। दस्तावेजों की जांच से पहले यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा, टर्मिनल गेट पर दस्तावेजों की जांच कर रहे यात्रियों को सैनिटाइजर उपलब्ध कराया जाएगा। टिकट और आईडी प्रूफ की स्कैनिंग बिना छुए की जाएगी।
प्रवेश के समय से ही बरती जाएगी सतर्कता
एयरपोर्ट पर संक्रमण फैलने की सबसे बड़ी आशंका प्रवेश के समय ही रहती है। ऐसे में एयरपोर्ट अथॉरिटी ने यहीं पर संक्रमण रोकने के लिए योजना तैयार की है। प्रवेश के दौरान कॉन्टैक्टलेस सिस्टम तैयार किया गया है ताकि कोई यात्री एक-दूसरे के संपर्क में न आए।
एयरपोर्ट पहुंचने के बाद यात्री सबसे पहले बैगेज ट्रॉली के संपर्क में आते हैं। इसलिए सबसे पहले ट्रॉली के हैंडल से संक्रमण एक यात्री से
दूसरे में फैलने की आशंका होती है। इसके लिए खास तकनीकी बनायी गयी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

काला सोना फिल्म के निर्माता हरीश शाह का कैंसर से लंबी लड़ाई लड़ने के बाद हुआ निधन

मुम्बई : फिल्मकार हरीश शाह का कैंसर से लंबी लड़ाई लड़ने के बाद मंगलवार को सुबह निधन हो गया। उन्हें गले का कैंसर था और आगे पढ़ें »

बंगाल में कोरोना का कहर, मालदा के कुछ हिस्सों में एक सप्ताह के लिए पूर्ण लॉकडाउन

मालदा : पश्चिम बंगाल के मालदा जिले में कोविड-19 संक्रमण के बढ़ रहे मामलों को देखते हुए इंग्लिश बाजार और ऑल्ड मालदा कस्बे में बुधवार आगे पढ़ें »

ऊपर