जब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा- ‘चीटिंगबाज’ पार्टी है भाजपा

कोलकाताः पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता एक-दूसरे पर निशाना साध रहे हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के रविवार को किए गए हमलों के बाद राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पलटवार किया है। मुख्यमंत्री ने भाजपा को ‘चीटिंगबाज पार्टी’ बताया है। इसके साथ ही, उन्होंने आरोप लगाया है कि भाजपा राजनीति के लिए कुछ भी कर सकती है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अमित शाह पर पलटवार करते हुए कहा, ”आप गृह मंत्री हैं। आपको झूठ बोलना शोभा नहीं देता है।” उन्होंने कहा कि भाजपा एक चीटिंगबाज पार्टी है। राजनीति के लिए वे कुछ भी कर सकते हैं। हम संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का तब से विरोध कर रहे हैं, जब से उसे कानून बनाया गया है। वे (भाजपा) नागरिकों के भाग्य का फैसला नहीं कर सकते, उन्हें अपनी किस्मत खुद तय करने दें। हम सीएए, एनपीआर और एनआरसी के खिलाफ हैं।”

शाह ने झूठ का पुलिंदा बोला है

उन्होंने आगे कहा कि अमित शाह ने कल (रविवार) झूठ का पुलिंदा बोला है। उन्होंने दावा किया कि हमारा राज्य उद्योग में ‘शून्य’ है, लेकिन हम एमएसएमई क्षेत्र में नंबर एक हैं। उन्होंने दावा किया कि हम ग्रामीण सड़कों का निर्माण नहीं कर सकते, लेकिन हम उसमें नंबर एक हैं। यह जानकारी भारत सरकार की है।

गृह मंत्री अमित शाह ने क्या कहा था?

पश्चिम बंगाल के दो दिनों के दौरे के अंतिम दिन केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा था कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के सिर्फ नियम बनना बाकी हैं। उन्होंने बताया था कि कोरोना वायरस की वैक्सीन बन जाने के बाद सरकार आगे विचार करेगी। संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में अमित शाह ने कहा था, ”सीएए के अभी नियम बनना बाकी हैं। कोरोना वायरस महामारी के चलते यह नहीं हो सका है। जैसे ही वैक्सीन आ जाएगी, उसके बाद सरकार विचार करके जानकारी देगी।”

शेयर करें

मुख्य समाचार

जब साजिद ने जिया से टॉप खुलवाकर ब्रा…

मुंबईः दिवंगत एक्ट्रेस जिया खान की जिंदगी पर बनी डॉक्युमेंट्री 'डेथ इन बॉलीवुड' हाल ही में यूके में रिलीज की गई। इस डॉक्युमेंट्री के दूसरे आगे पढ़ें »

ममता को मिला सहारा ! अखिलेश- भाजपा को हराने के लिए तृणमूल को देंगे समर्थन

उत्तर प्रदेश : पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने हैं। चुनाव से पहले ममता बनर्जी को सहारा मिला है समाजवादी पार्टी का। समाजवादी पार्टी के आगे पढ़ें »

ऊपर