जब ममता मिलीं गांव के लोगों से

गांववालों ने दीदी के साथ बिताए पल को किया कैमरे में कैद
सन्मार्ग संवाददाता
दीघा : गांव-गांव जाइए और लोगों से जनसपंर्क बढ़ाइए। दीदी के बोलो कैंपेन के तहत पार्टी नेताओं को जिम्मेदारी ही दी गयी है कि वह लोगों के बीच जाकर उनसे तालमेल बढ़ाएं तथा उनकी समस्याओं को सुन कर उसे दूर करें। इस अभियान में खुद दीदी भी पीछे नहीं हैं। बुधवार को ममता अचानक दीघा के एक गांव में पहुंचीं। अचानक कहीं जाना ममता के लिए नयी बात नहीं थी मगर दत्तपुर गांव के जिस टोले में वह गयी थीं वहां के लोगों की माने तो जैसे कोई सपना साकार हो गया हो। इस गांव और इस टोले के लोगों के लिए यह एकदम से नयी बात थी जब कोई बड़ा नेता या कहें दीदी उनके बीच आयी हों। दीदी की आवभगत के लिए कोई किसी तरह की कसर नहीं छोड़ना चाह रहा था। इधर दीदी का उत्साह भी लोगों की खुशी के सामने कम नहीं था। पहले तो दीदी ने गांववालों से उनकी खैरियत पूछी, बाद में महिलाओं के साथ अलग से दरबार बैठाया। दीदी ने महिलाओं से उनकी समस्या के बारे में पूछा, गांव में समस्त सरकारी सेवाओं का लाभ उन्हें मिल रहा है कि नहीं इसकी जानकारी ली। बिजली, पानी, सड़क, बच्चों की ​शिक्षा, रोजगार की समस्या को लेकर भी ममता ने हाल जाना तथा साथ ही साथ किसी भी समस्या को सुनकर उसे जल्द दूर करने का सीएम ने आश्वासन दिया। गांववालों की खुशी दोगुनी करने के लिए दीदी ने महिलाओं को भेंट स्वरूप साड़ी दी तथा बच्चों को चॉकलेट दी। जाते वक्त दीदी ने गांव भ्रमण किया तथा लोगों के रहन-सहन की अवस्था को देखा। इधर गांववालों ने भी दीदी को अपने बीच पाकर इस लम्हे को कैमरे में कैद कर लिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

police

दिल्ली हिंसा : यूपी पुलिस की तर्ज पर अब दिल्ली पुलिस भी दंगाइयों से वसुलेगी जुर्माना

दिल्ली : उत्तर प्रदेश पुलिस की तर्ज पर अब दिल्ली पुलिस ने भी दंगाइयों पर कार्रवाई करने का फैसला किया है। दरअसल, उत्तर-पूर्वी दिल्ली में आगे पढ़ें »

मधुमेह के लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार

हमारी बिगड़ती जीवनशैली के कारण हमारा शरीर कई बीमारियों का घर बन गया है। इन्हीं बीमारियों में से एक है डाइबिटीज़ यानी मधुमेह। डाइबिटीज़ भले आगे पढ़ें »

ऊपर