छात्र क्रेडिट कार्ड के लिए पश्चिम बंगाल को मिले 26,000 आवेदन

कोलकाता : उच्च शिक्षा की पढ़ाई के लिए 10 लाख रुपये तक के कर्ज की सुविधा वाली छात्र क्रेडिट कार्ड योजना के तहत पश्चिम बंगाल सरकार को 26,000 से अधिक आवेदन मिले हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी।
जरूरतमंद छात्रों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने में मदद के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पिछले महीने योजना की शुरुआत की थी। उन्होंने बताया कि ये 26,000 से अधिक आवेदन पिछले सप्ताह तक मिले हैं जिसमें करीब 6,059 उन छात्रों के हैं जो पश्चिम बंगाल से हैं लेकिन राज्य के बाहर पढ़ाई कर रहे हैं। करीब 16,800 आवेदक पुरूष हैं और 9,700 आवेदक महिलाएं हैं।
अधिकारी ने बताया, ‘‘ऐसा प्रतीत होता है कि योजना छात्रों के बीच काफी लोकप्रिय हो गई है। आगामी दिनों में हमें और आवेदन मिलने का अनुमान है। उन्होंने बताया कि कोई छात्र जिस पाठक्रम के लिए आवेदन करेगा उसके लिए शिक्षा ऋण का आवेदन कर सकता है, लेकिन अगर उसने संस्थान को भुगतान कर दिया है तो वह ऋण के लिए आवेदन नहीं कर सकता है।
बनर्जी ने 30 जून को योजना की शुरुआत की थी जिसके तहत 10वीं कक्षा के बाद छात्र अपनी जरूरत के अनुरूप योजना के तहत 10 लाख रुपये तक के ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं। छात्र एमबीबीएस, बीटेक जैसे प्रोफेशनल पाठक्रम या अपने कौशल को बढ़ाने के लिए डिप्लोमा पाठक्रम करने के दौरान भी कर्ज के लिए आवेदन कर सकते हैं।
उन्हें ऋण के लिए कोई प्रतिभूति देने की आवश्यकता नहीं होगी क्योंकि राज्य सरकार प्रतिभू होगी। ब्याज दर चार प्रतिशत होगी और यदि यह अध्ययन अवधि के भीतर चुकाया जाता है तो इसे और कम किया जा सकता है। उच्च शिक्षा के अलावा छात्र लैपटॉप, किताबें खरीदने या टूशन फी और बोर्डिंग शुल्क का भुगतान करने के लिए भी ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

महानगरः मार्केट खुलने के एक महीने में भी पटरी पर नहीं लौट पा रहा व्यवसाय

कोरोना काल, ट्रेनों का बंद रहना और तीसरी लहर के डर से नहीं हो रही भीड़ सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना वायरस की दहशत कुछ कम होने आगे पढ़ें »

ऊपर