छात्रों के प्रदर्शन के आगे झुका कलकत्ता विश्वविद्यालय

चांसलर को मंच पर आने की नहीं मिली अनुमति
बिना चांसलर के ही हुआ दीक्षांत समारोह
शर्मसार हुआ शिक्षा जगत
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : पश्चिम बंगाल में छात्रों की मनमानी एक बार फिर देखने को मिली। छात्रों की मनमानी के आगे प्रतिष्ठित कलकत्ता विश्वविद्यालय का प्रशासन झुक गया। विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह के मंच पर राज्यपाल और विश्ववद्यालय के चांसलर जगदीप धनखड़ को जाने की अनुमति नहीं दी गयी। वीसी सोनाली चक्रवर्ती बनर्जी बार-बार हाथ जोड़कर प्रदर्शनकारी छात्रों से शांत होने का अनुरोध कर रही थीं, लेकिन सब निरर्थक साबित हुआ। बाध्य होकर राज्यपाल कार्यक्रम स्थल से लौट गये। चांसलर के बगैर ही जैसे-तैसे दीक्षांत समारोह पूरा किया गया। नोबेल पुरस्कार विजयी अभिजीत विनायक बंद्योपाध्याय को डी. लिट. की उपाधि दी गयी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आरएसएस प्रमुख की समझदारी पर सोनम ने उठाए सवाल, हुईं ट्रोल

नई दिल्ली : आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत द्वारा तलाक को लेकर दिए गए बयान को फिल्म अभिनेत्री सोनम कपूर ने मूखर्तापूर्ण बताया है। सोनम ने आगे पढ़ें »

modis

मोदी और शाह को ‘आतंकवादी’ कहने पर मुस्लिम नेता के खिलाफ मामला दर्ज

सम्भल (उत्तर प्रदेश) : उत्तर प्रदेश में सम्भल जिले के नखासा क्षेत्र में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के विरोध में आगे पढ़ें »

ऊपर