चौतरफा फंसते जा रहे हैं राजीव

अब रोजवैली मामले में नोटिस, पत्नी से किया पूछताछ
बॉडीगार्ड लाइन लाइन स्थित कंट्रोल रूम व लेकटाउन में सीबीआई ने चलाया अभियान
राजीव के सुरक्षा कर्मी से भी हुई पूछताछ
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : कोलकाता पुलिस के पूर्व कमिश्नर राजीव कुमार सीबीआई की घेराबंदी में बुरी तरह फंसते नजर आ रहे हैं। रविवार की सुबह एक तरफ जहां राजीव कुमार की तलाश सीबीआई की टीम ने कई जगहों पर की तो वहीं उनके घर में नोटिस भी दी गयी। सूत्रों के अनुसार रविवार की दोपहर सीबीआई के 4 अधिकारी पार्क स्ट्रीट स्थित राजीव कुमार के घर पर पहुंचे और नोटिस थमायी। इस बार रोजवैली मामले के जांच अधिकारी ने पूछताछ के लिए उन्हें बुलाया है। यह सीबीआई का नया हमला है। सोमवार की सुबह राजीव कुमार को सीबीआई कार्यालय सीजीओ कॉम्प्लेक्स में हाजिर होने के लिए कहा गया है। सूत्रों के अनुसार रोजवैली मामले में भी कई महत्वपूर्ण तथ्य की जानकारी के लिए सीबीआई राजीव से पूछताछ कर चाहती है। वहीं रविवार को भी उनकी पत्नी संचित कुमार से सीबीआई ने लगभग 40 मिनट तक पूछताछ की। इस बार सीबीआई की एक महिला अधिकारी भी साथ में थी। इसके पहले जब संचित कुमार से पूछताछ की गयी थी तो महिला अधिकारी नहीं थी। सीबीआई को सूचना मिली है कि राजीव अपनी पत्नी के सम्पर्क में हैं, हालांकि उनकी पत्नी ने इसे सीबीआई के समक्ष सम्भवत: सिरे से खारिज किया है। इस बार सीबीआई का मूड पहले से काफी कड़ा है तथा जिन लोगों ने कार्रवाई में सहयोग नहीं किया है, उनके खिलाफ भी कानून के अनुसार उचित कार्रवाई की बात सोची जा रही है।
वहीं दूसरी ओर सीबीआई की टीम ने रविवार की सुबह लेकटाउन के एक गेस्ट हास और रेस्तरां में राजीव की तलाश में छापामारी की । इसके बाद सीबीआई के 4 अधिकारी अलीपुर के बॉडीगार्ड लाइन स्थित कोलकाता पुलिस के आर्म्ड पुलिस के कंट्रोल रूम में पहुंचे और वहां पर भी तलाशी अभियान चलाया। बॉडीगार्ड लाइन से निकलकर सीबीआई अधिकारी सीजीओ कॉम्प्लेक्स पहुंचे। सीजीओ में में राजीव के कई स्टाफ को बुलाया गया था, जिनसे लम्बी पूछताछ हुई। उनके ड्राइवर से लाग बुक भी मंगाया गया था।
कुछ व्यवसाइयों पर गिर सकती है गाज
इसबीच महानगर के कुछ व्यवसाइयों पर भी गाज गिर सकती है। सीबीआई के पास सूचना है कि ये व्यवसायी राजीव कुमार को आर्थिक रूप से मदद कर रहे हैं। यानी उनके वकील को फीस देना आदि। सूत्रों के अनसार राजीव कुमार के एडवोकेट की फीस उक्त व्यवसायी ही दे रहे हैं। ऐसे में राजीव कहां छिपे हैं, उसके बारे में उन्हें जानकारी हो सकती है।
आज बड़ी कार्रवाई की संभावना
सीबीआई सूत्रों के मुताबिक ‘भगोड़े’ राजीव कुमार को पकड़ने के लिये बड़े पैमाने पर सर्च ऑपरेशन करने की जरूरत है। साथ ही उन्हें बचाने वालों के खिलाफ भी अब कार्रवाई की जायेगी। ऐसा माना जा रहा है कि सीबीआई की ओर से इन दोनों पहलुओं पर आज यानी साेमवार को कोई बड़ा फैसला लिया जा सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दिल्ली के दो स्टेडियम में ट्रेनिंग शुरू, 50 प्रतिशत खिलाड़ियों को ही अनुमति

नयी दिल्‍ली : स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (साई) ने खिलाड़ियों की ट्रेनिंग के लिए दिल्ली में दो स्टेडियमों को खोल दिया है। जवाहरलाल नेहरू और आगे पढ़ें »

टाइगर वुड्स ने गोल्फ खेलकर एक दिन में 152 करोड़ जुटाए

न्‍यूयार्क : कोरोनावायरस से जंग लड़ने के लिए एक चैरिटी गोल्फ टूर्नामेंट किया गया। इसमें अमेरिका के टाइगर वुड्स, पेटन मैनिंग की जोड़ी भी शामिल आगे पढ़ें »

ऊपर