चीन के साथ तनावपूर्ण संबंधों के बीच एयरपोर्ट पर पहुंचा अहम इक्विपमेंट

कोलकाता : चीन के साथ भारत के तनावपूर्ण संबंधों के बीच कोलकाता एयरपोर्ट पर एटीआरएस का फाइनल कंसाइनमेंट पहुंच गया। इस इक्विपमेंट की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इससे यात्रियों की लाइन सिक्युरिटी एरिया जोन में कम लगेगी। यह सिस्टम बैगेज स्क्रिनिंग को पहले की तुलना में फास्ट कर देगा। इसे चीन के शंघाई से कोलकाता मंगा लिया गया है। अगर यह समय पर नहीं आ जाता तो इसको यहां मंगाने में काफी दिक्कतें आ सकती थीं। एटीआरएस यानी कि ऑटोमैटिक ट्रे रिट्राइवल सिस्टम का फाइनल कंसाइनमेंट गत सोमवार को यहां पहुंच गया।
चीन से आ रहा काफी कम कार्गो
एलएसी पर 15 जून को 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने के बाद चीनी उत्पादों का लोग उपयोग बंद कर रहे हैं। ऐसे में चीन से काफी कम कार्गो यहां आ रहा है। इस बीच, 36 करोड़ की कीमत का एयरपोर्ट पर चल रहा यह प्रोजेक्ट बीच में ही अधर में लटक जाता, लेकिन इससे पहले ही इस अहम इक्विपमेंट को मंगा लिया गया। कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन में इस प्रोजेक्ट्स में पहले ही देर हो चुकी है। वर्ष 2019 के दिसंबर में 2 कैबिन बैगेज एक्स रे लाइनों पर इसे इंस्टॉल कर दिया गया था। इस इक्विपमेंट को 10 और एक्स रे लाइन पर लगना था।
क्या है एटीआरएस
एटीआरएस वह सिस्टम है जो कि ट्रे को ऑटोमेटिकली स्क्रिनिंग के लिए भेजता है जहां यात्री कैबिन बैगेज आइटमों को स्क्रिनिंग के ​लिए रखते हैं। यह सिस्टम सीआईएसएफ अधिकारियों को ​​स्क्रिनिंग में भी काफी सुविधा देता है। जितने बैग वे एक घंटे में चेक करते हैं, इस सिस्टम में करीब दोगुने बैगों की चेकिंग हो जाती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आईटी व जीएसटी के छापे से परेशान हैं बंगाल के व्यवसायी

चुनावी माहौल में भाजपा के लिए पड़ सकता है भारी कोलकाता : एक तो लॉकडाउन की मार ऊपर से बिजनेस का ग्राफ डाउन। इसके बाद अब आगे पढ़ें »

सुबह-सुबह पैसे का गिरना या मिलना शुभ होता है या अशुभ, ऐसे पहचानें ये संकेत

कोलकाता : जीवन में पैसे का महत्व किसी से आज के दौर में छिपा नहीं है, ऐसे में आज के दौर में व्यक्ति कठीन से आगे पढ़ें »

ऊपर