घातक कोरोना से दहशत,व्यापार ठप पड़ने की संभावना

कलकत्ता साड़ी डीलर्स एसोसियेशन का 29 अप्रैल से 2 मई तक व्यवसाय बंद
अस्पतालों में मरीज हो रहे ओवरलोड
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : कोरोना की दूसरी लहर का कहर तेजी से लोगों पर बरप रहा है। कोलकाता के वृहत्तम बड़ाबाजार में स्थिति काफी गंभीर हो रही है। इलाका बड़ा है, घना है। करोड़ों-अरबों रुपयों का यहां कारोबार होता है जिसमें लाखों की संख्या में लोग जुड़े हुए हैं।। जिस तरह कोरोना यहां पैर पसार रहा है यहां के लोगों में डर का माहौल बैठ गया है। घातक कोरोना की खबर से बड़ाबाजार के व्यवसायियों में दहशत का माहौल है। व्यवसायी वर्ग सहमा हुआ है, असर यह है कि कई लोग बाहर न निकलने में ही अपनी भलाई समझ रहे हैं। कहना गलत न होगा कि आने वाले समय में बड़ाबाजार का व्यवसाय ठप होने जा रहा है जिसकी शुरुआत लगभग हो चुकी है।
कलकत्ता साड़ी डीलर्स एसोसियेशन ने की बंद की घोषणा
कोरोना के कहर को देखते हुए कलकत्ता साड़ी डीलर्स एसोसियेशन ने अपना व्यवसाय बंद करने की घोषणा कर दी है। एसोसिएशन की ओर से कहा गया है कि 29 अप्रैल से 2 मई तक उनका व्यवसाय बंद रहेगा। यहां हम बताते चलें कि इस एसोसिएशन से बड़ी संख्या में लोग जुड़े हुए हैं।
एक मरीज जा रहा, दो आ रहे हैं
कोरोना पिछली बार भी आया था मगर वह इतना खतरनाक नहीं था जितना भयानक रूप इस बार दिखा रहा है। कोरोना की दूसरी लहर से हर कोई डरा सहमा सा है। जिसकी वीभत्स तस्वीर बड़ाबाजार के अस्पतालों में देखी जा सकती है। एसवीएस मारवाड़ी अस्पताल के एडमिनिस्ट्रेटर, सुरेश कुमार शर्मा ने सन्मार्ग को बताया कि लोग बहुत ही परेशान हैं, जिसके कारण वह अस्पताल आ रहे हैं। स्थिति यह है कि रोजाना अस्पताल में 10-15 बेड इमरजेंसी के लिए रखने पड़ रहे हैं। विशुद्धानंद अस्पताल के सेक्रेटरी दीपक बंका कहते हैं कि एक बेड खाली नहीं होता कि दो बेड की डिमांड आ जा रही है। स्थिति को देखते हुए अस्पताल में 8 अतिरिक्त बेड की व्यवस्था की गयी है। मारवाड़ी रिलीफ सोसाइटी की ओर से गोविंद राम अग्रवाल ने बताया कि ​गंभीर स्थिति है इसलिए सीरियस पेशेंट को ले ही नहीं रहे हैं। जिनका इलाज कर सकते हैं, बस उन्हें ही अस्पताल में भर्ती कर रहे हैं।
बड़ाबाजार के अस्पतालों की दशा
विशुद्धानंद अस्पताल
कोविड बेड : 45
आइसोलेशन बेड : 10
इमरजेंसी के लिए रख रहे बेड : 1
एसवीएस मारवाड़ी अस्पताल
कोविड बेड : 60
रिफ्यूज मरीजों की संख्या : 5
मरने वालों की संख्या : 1 से 2
मारवाड़ी रिलीफ सोसाइटी
कोविड बेड : 50
सीरियस मरीज : 22
इमरजेंसी के लिए बेड : 5
रोजाना कोविड से मरने वाले की संख्या : 1 से 2

शेयर करें

मुख्य समाचार

सुसाइड प्वाइंट बनता जा रहा है विद्यासागर सेतु

हावड़ा ब्रिज पर रेलिंग लगने के बाद यहां पर लोगों की संख्या बढ़ी पिछले दो महीने में 5 लोगों को पुलिस ने आत्महत्या करने से बचाया सन्मार्ग आगे पढ़ें »

कोरोना संक्रमित पिता के इलाज खर्च जुगाड़ नहीं कर पाया, बेटा कुएं में कूद कर मरा

सन्मार्ग संवाददाता दुर्गापुर : प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित पिता के इलाज का खर्च नहीं उठा पाने से तनावग्रस्त बेटे ने कुआं में कूदकर आत्महत्या आगे पढ़ें »

ऊपर