पुलिस की नाक के नीचे हो रही थी गांजे की खेती, हुआ पर्दाफाश

झाड़ग्राम : झाड़ग्राम में पुलिस की नाक के नीचे ही पिछले काफी समय से गांजे की खेती की जा रही थी जिसका आखिरकार पर्दाफाश हुआ। गोपीबल्लभपुर इलाके में पुलिस और आबकारी विभाग ने मिलकर गांजे की खेती के खिलाफ अभियान चलाकर खेत को नष्ट कर दिया।
पुलिस सूत्रों के अनुसार, झाड़ग्राम जिले के गोपीबल्लभपुर से होकर बहने वाली स्वर्ण रेखा नदी के किनारे काफी मात्रा में गांजे की खेती की जाती है। इसके बारे में पुलिस को जानकारी मिलने पर पुलिस और आबकारी विभाग ने अभियान चलाकर गांजे की खेती को नष्ट कर दिया। गांजे के पौधों को काट कर उन्हें जला दिया गया। इस बारे में झाड़ग्राम के एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि कुछ दिनों पहले ही काफी परिमाण में गांजे के साथ एक अभियुक्त को गिरफ्तार किया गया था। उससे पूछताछ करने पर पता चला कि गोपीबल्लभपुर के चोरचिता गांव से वह गांजा लेकर आया है। उसके बाद ही रविवार की शाम से उस इलाके में अभियान चलाकर गांजे की खेती को नष्ट कर दिया गया। मालूम हो कि पिछले कुछ दिनों के अंदर पश्चिम मिदनापुर जिले के ओडिशा सीमांत इलाके से काफी मात्रा में विभिन्न गाड़ियों से गांजा पकड़ा गया और कई लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Jagdip Dhankhar

धनखड़ के खिलाफ विधान सभा से संसद तक मोर्चाबंदी

कोलकाता : ऐसा पहली बार हुआ है जब विधानसभा में सत्ता पक्ष ने धरना दिया। कारण थे राज्यपाल जगदीप धनखड़, जिन पर विधेयकों को मंजूरी आगे पढ़ें »

मेरे कंधे पर बंदूक रखकर चलाने की को​शिश न करें – धनखड़

कोलकाता : राज्यपाल जगदीप धनखड़ और तृणमूल सरकार के बीच संबंधों में मंगलवार को और खटास आ गयी जब उन्होंने ‘कछुए की गति से काम आगे पढ़ें »

ऊपर