कोलकाता मेट्रो के मुख्य स्टेशनों पर बढ़ायी गयी ई-पास की संख्या

कोलकाता : कोलकाता मेट्रो में ऑफिस टाइम के समय ई-पास की संख्या को बढ़ाया गया है। आज, सोमवार से टॉलीगंज, कालीघाट, महात्मा गांधी, एस्प्लानेड व पार्क स्ट्रीट में ई-पास को बढ़ाया गया है। इससे यहां आने वाले यात्रियों को ज्यादा से ज्यादा ई-पास मुहैया ​कराया जा सकेगा। वहीं मेट्रो के समय में भी बदलाव किये गये हैं। आज से  कोलकाता मेट्रो की अंतिम ट्रेन शाम 7 बजे के बजाय 7.30 बजे छूटेगी।
मेट्रो रेलवे के जीएम मनोज जोशी ने बताया कि सोमवार से रात में 8.30 बजे तक  मेट्रो परिसेवा उपलब्ध होगी। हालांकि सुबह के समय में कोई बदलाव नहीं किया  गया है।  इसके साथ ही 3 जोड़ी रेक को बढ़ाया गया है जो कि शाम 7.10, 7.20  व 7.30 बजे के समय को कवर करेंगी। कुल मिलाकर अब 110 सर्विसेज की बजाय 116  सर्विसेज यात्रियों के लिए उपलब्ध होगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मेट्रो में 1 लाख की क्षमता  को पूरा करने के लिए ई-पास का फार्मूला कारगर साबित हो रहा है। यात्रियों  की संख्या को बढ़ाने के लिए ई-पास की संख्या को बढ़ाया गया है। इसका मुख्य  उद्देश्य है कि आश्वयक कार्य से जाने वाले यात्री बिना ई-पास के वंचित हों।  जीएम ने कहा कि मेट्रो के ई-पास के मुकाबले लोगों की संख्या थोड़ी कम  है क्योंकि एक बार में 72 हजार ई-पास की बुकिंग हो रही है और केवल 45 हजार  लोग ही सफर कर रहे हैं।
कोलकाता मेट्रो को बनाया गया मॉडल
कोलकाता मेट्रो ने भीड़ को संभालने और सोशल डिस्टेंसिग को बरकरार रखने के लिए काफी बेहतर तरीका अपनाया है। इसके कारण इस विषय पर विदेशों में शोध शुरू हुआ है। यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, वार्कल की ओरसे बेवसाइट पर कोलकाता मेट्रो का जिक्र करते हुए कहा गया है कि कोलकाता मेट्रो ने सोशल डिस्टेंसिंग को जिस तरह से लागू किया है, वह एक मॉडल की तरह है। इसे लेकर विदेशों में शोध शुरू किया गया है। कोलकाता मेट्रो किस प्रकार सोशल डिस्टेंसिंग को पालन कर रहा है, इसे जानने के लिए दिल्ली मेट्रो ने पहले ही आग्रह किया था।
रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी संतोष जताया था। विदेश के विश्वविद्यालयों की ओर से पूछा जा रहा है कि कोलकाता मेट्रो ने डायनमिक कैपेसिटी, संक्रमण को नियंत्रित करते हुए काम की गति को कैसे तय किया है। इसके साथ ही यह भी जानकारी ली गयी है कि ई-पास की बुकिंग के दौरान यात्रियों से कितने सवाल किये जा रहे हैं। ये सभी जानकारियों को जुटाकर विशलेषण किया जा रहा है। मेट्रो में यात्रियों की संख्या, गतंव्य, समय समेत अन्य चीजें भी इसमें शामिल हैं। इस बारे में मेट्रो के तकनीकी प्रमुख संजय चट्टोपाध्याय ने कहा कि सरल, सुरक्षित एवं सभी के इस्तेमाल करने को ध्यान में रखा गया है। ई-पास को तैयार करना ही हमारे लिए बड़ी चुनौती थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राजस्थान ने पंजाब को 7 विकेट से हराया, राजस्थान अब भी प्ले ऑफ की रेस में

अबुधाबी : बेन स्टोक्स की अगुआई में शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत राजस्थान रॉयल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग में शुक्रवार को आगे पढ़ें »

1000 छक्के उड़ाने वाले दुनिया के पहले क्रिकेटर बने गेल

अबु धाबी : राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ शतक से चूक गए अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के कारण दुनियाभर की टी20 लीग में अपना विशिष्ट स्थान रखने आगे पढ़ें »

ऊपर