कोलकाता एयरपोर्ट पर लगातार दूसरे दिन बिजली आपूर्ति बाधित

  • उड़ान सेवाओं पर पड़ा व्यापक असर
  • कई यात्रियों के सामान यहीं रह गए, उड़ानें घण्टे भर देर से संचालित हुईं
  • गुस्साए यात्रियों ने कहा – एयरपोर्ट नहीं यह तो मछली बाजार है
  • इमरजेंसी बैकअप से चलाया गया काम
  • जेनेरेटर के लिये 24 घंटे में 25 लाख से अधिक का डीजल मंगाया गया

कोलकाता : कोलकाता एयरपोर्ट पर लगातार दूसरे दिन शुक्रवार को विद्युत आपूर्ति बाधित रही। इस कारण शुक्रवार की सुबह से ही एयरपोर्ट पर सारे सिस्टम स्लो हो गए । इससे उड़ानों में देर हुई और यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। इसे लेकर गुस्साए यात्रियों ने कहा कि शुक्रवार की सुबह एयरपोर्ट का नजारा किसी मछली बाजार जैसा था। एयरपोर्ट यात्री वरुण कुमार राजपूत ने सोशल मीडिया पर एक तस्वीर शेयर की और कहा कि कोलकाता एयरपोर्ट पर सेक्युरिटी लाइन में खड़े रहते हुए उन्हें 1 घंटा हो गया है। सिर्फ एक बेल्ट काम कर रहा है जिससे हैंड बैगेज की चेकिंग की जा रही है। वहीं सारे सिस्टम ठप होने के कारण कइयों के सामान एयरपोर्ट पर ही छूट गए। उन्हें दूसरी उड़ानों से भेजा गया। एक यात्री ने ट्वीट कर पूछा कि उन्हें दूसरी उड़ान कोलकाता से लेनी है लेकिन अब तक कन्वेयर बेल्ट पर उनका सामान नहीं आया है। सुबह में 6.30 बजे से सुबह के 9.30 बजे तक रश आवर्स में यात्रियों को यह परेशानी झेलनी पड़ी। इसके बाद पहले की तुलना में उड़ान सेवाएं थोड़ी सामान्य हुई। फिर भी उड़ानें आधे से 1 घंटे देरी से संचालित हुई। एरो ब्रिज नहीं चलने के कारण यात्रियों को सीढ़ी व लिफ्ट नहीं काम करने की वजह से पैदल जाना पड़ा। वहीं गुरुवार की रात की तरह ही शुक्रवार की शाम को इमरजेंसी लाइट्स ही जलाये गए थे। एयरपोर्ट पर अधिकतर एरिया में अंधेरा छाया था। सुबह में 30 से अधिक उड़ानें प्रभावित हुई, जिनसे करीब 4500 से अधिक यात्रियों को परेशानी भुगतनी पड़ी, जिनमें उन्हें लंबी कतारों में रहना पड़ा। उनके सामानों की जांच नहीं होने के कारण उनकी उड़ानों में सामान नहीं जा सके। साथ ही उनकी उड़ानें भी देरी से संचालित हुईं।
क्या कहना है एयरपोर्ट डायरेक्टर का
एयरपोर्ट डायरेक्टर कौशिक भट्टाचार्य ने बताया कि सुबह के समय उड़ानें प्रभावित हुईं। इसकी वजह इनलाइन बैगेज सिस्टम का काम न कर पाना तथा, सिक्योरिटी चेक इन में हो रही समस्या थी। सुबह के बाद दिन वाली उड़ानों में कोई दिक्कत नहीं हुई। शुक्रवार को दिल्ली , मुम्बई तथा चेन्नई सहित 6 शहरों से उड़ानों का संचालन हुआ, इसलिये एयरपोर्ट पर काफी भीड़ रही। सीईएससी के अधिकारियों से बात हुई है रात के 12 बजे तक बिजली आपूर्ति ठीक कर दी जायेगी। यह पहले ही ठीक हो जाती लेकिन तकनीकी कारणों से इसमें वक्त लग रहा है। उड़ानों पर असर न हो इसके लिये बैक में डीजल से जेनेरेटर चल रहा है। 24 घंटे में अब तक 25 लाख का डीजल जल चुका है।
आखिर 24 घंटे बीतने के बाद भी क्यों है बिजली आपूर्ति बाधित
मेट्रो रेल कार्य के कारण कोलकाता एयरपोर्ट टर्मिनल भवन के मुख्य एचटी लाइन केबल क्षतिग्रस्त हो गए और बिजली आपूर्ति बाधित हो गई। यह घटना घटी है गत गुरुवार की दोपहर 4.30 बजे और अब तक इसे ठीक नहीं किया गया है। इसके पीछे सीईएससी, मेट्रो रेलवे तथा एएआई के अधिकारी युद्ध स्तर पर काम कर रहे हैं। इसे ठीक करने में सबसे बड़ी समस्या केबल इलाके में पानी का होना है। नीचे केबल के निकट पानी आ जा रहा है जिसे पंप कर निकालने के बाद भी यह फिर से पानी पानी हो रहा है। चूंकि इस केबल से 33000 वोल्टेज का करंट पास होना है, इसलिए कोई भी बिना उक्त इलाके को ड्राई किये, आगे कुछ नहीं कर सकता क्योंकि स्पार्क निकलने का खतरा है। इसलिए काफी दिक्कत हो रही है। आशा है कि आज शनिवार की सुबह यात्रियों को कोई समस्या नहीं होगी। फिर भी यात्री यही कोशिश करें कि जल्दी एयरपोर्ट पहुंच सके।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

विद्युत ऊर्जा निगम लिमिटेड का करोड़ों का केबल चोरी

जमशेदपुर : टेल्को थाना अंतर्गत जेम्को के पास झारखंड विद्युत ऊर्जा निगम लिमिटेड का करोड़ों रुपये का केबल चोरी करने के आरोप में पुलिस ने आगे पढ़ें »

राज्यपाल मुर्मू ने महिला कॉलेज का किया उद्घाटन

लोहरदगा: झारखंड की राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू बुधवार लोहरदगा पहुंची। यहां उन्होंने सेन्हा प्रखंड के बरही में 9 करोड़ की लागत से निर्मित महिला कॉलेज का आगे पढ़ें »

ऊपर