केंद्र सरकार रेलवे की चिट्ठी वापस ले वरना सड़क पर उतरेगी तृणमूल

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के 8 रूटों पर रेल परिसेवा बंद करने के प्रतिवाद में ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस सड़क पर उतरने वाली है। तृणमूल कांग्रेस की ओर से केंद्र सरकार को अल्टीमेटम दिया गया है कि अगर 31 जनवरी तक रेल मंत्रालय राज्य को दी गयी चिट्ठी वापस नहीं लेता है तो तृणमूल संसद से सड़क तक प्रतिवाद करेगी। पार्टी महासचिव पार्थ चटर्जी ने बताया कि चिट्ठी वापस नहीं ली गयी तो 1 फरवरी को ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस संसद से सड़क तक विरोध-प्रदर्शन करेगी। पार्थ चटर्जी ने बताया कि यह पहली​ बार नहीं है जब केंद्र राज्य के लोगों का अपमान कर रहा है। इसके पहले भी केंद्र ने कई योजनाओं को बंद कर दिया है या फंड में कटौती की है। राज्य के महत्वपूर्ण 8 रूटों पर रेल परिसेवा बंद करके केंद्र राजनीतिक प्रतिहिंसा दिखा रहा है। यह वहीं रूट हैं जिसे ममता बनर्जी जब रेल मंत्री थी तब बनवाया था। ममता बनर्जी देश की ऐसी रेल मंत्री थीं जिन्होंने पूरे देश में रेल के माध्यम से गांवों को शहर से जोड़ने की कोशिश की थी। यह 8 रूट इसी का उदाहरण है। अगर इन रूटों को बंद कर दिया जाएगा तो इन इलाकों के ग्रामीण इलाकों के बाशिंदे शहर तक नहीं पहुंच सकेंगे। पार्थ चटर्जी ने कहा कि भाजपा जैसी साम्प्रदायिकता फैलाने वाली पार्टी के खिलाफ सभी राजनीतिक पार्टियां एक हैं। भाजपा न तो काम करती है ना ही किसी राज्य को काम करने देना चाहती है। इस प्रतिवाद में पार्टी के सांसद, विधायक, पार्षद सभी शामिल होंगे जो लोगों के पास जाकर भाजपा द्वारा बंगाल को पीछे करने की कोशिश के बारे में बताएंगे। इन रूटों में बगैर टिकट यात्रा करने की बात को लेकर पार्थ चटर्जी ने कहा कि टिकट की जांच करने की जिम्मेवारी केंद्र की है। अगर वह ऐसा नहीं कर रहा है तो इसमें भी केंद्र की ही असफलता है।

संसद से ब्लॉक स्तर पर होगा विरोध-प्रदर्शन
तृणमूल का केंद्र को अल्टीमेटम, 31 जनवरी तक का दिया वक्त
कहा : भाजपा से लड़ने के लिए सभी राजनीतिक दल एक हैं

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मय बंद्योपाध्याय ने जेल से रिहा होते ही बताया जान को खतरा

कहा राज्य में चल रहा जंगल राज संवाददाताओं से बातचीत के दौरान फूट-फूटकर रोने लगे सन्मार्ग संवाददाता पुरुलिया : सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट किये जाने के कथित आगे पढ़ें »

दीपावली पर ड्रोन से नजर रखेगा पीसीबी ऊंची इमारतों पर

प्रतिबंधित पटाखे जलाने पर आवासन के अध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई वसूला जाएगा 5 हजार से लाख रुपए तक का जुर्माना दोषी पाए जाने पर होगी 5 साल आगे पढ़ें »

ऊपर