कांटेदार टक्कर : कृष्णनगर दक्षिण सीट बचा पायेगी तृणमूल या छीन लेगी भाजपा !

मंत्री उज्ज्वल का मुकाबला पुराने चुनावी प्रतिद्वंद्वी से
माकपा भी दे रही है टक्कर
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : नदिया जिले के अंतर्गत आने वाली कृष्णनगर दक्षिण विधानसभा सीट पर 22 अप्रैल को मतदान होगा। यहां इस बार चुनावी मुकाबला बेहद ही कांटेदार है। तृणमूल कांग्रेस से एक बार फिर उज्ज्वल विश्वास मैदान में हैं। भाजपा ने अपने पुराने उम्मीवार महादेव सरकार को ही इस बार यहां मौका दिया है। 2016 में दूसरे स्थान पर रही माकपा ने यहां से सुमित विश्वास को उम्मीदवार बनाया है। यहां हम बता दें कि उज्ज्वल विश्वास इस सीट से दो बार से विजयी होते आये हैं। वे राज्य के संशोधनागार मंत्री भी हैं। इस बार भी उज्ज्वल का मुकाबला भाजपा के साथ माना जा रहा है। वहीं माकपा भी टक्कर दे रही है। बहरहाल जनता किसे चुनती है, किसके सिर पर जीत का ताज पहनाती है यह तो 2 मई को पता चलेगा मगर गत चुनावों के नतीजों को देखते हुए राजनीतिज्ञों की माने तो कृष्णनगर दक्षिण सीट पर मुकाबला जोरदार है।
ये नतीजे थे 2016 विधानसभा के
2016 के विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस के उज्ज्वल विश्वास को 80,711 को वोट मिले थे। माकपा से मेघलाल शेख काे 67,897 वोट मिले तथा भाजपा से महादेव सरकार को 22,850 वोट मिले थे। जीत की मार्जिन 12,814 (7.24%) थी जब​कि 2011 में जीत की मार्जिन 11,028 रही। महिला मतदाताओं की संख्या 95,719 थी। पुरुष मतदाता की संख्या 1,05,267 थी। वोट का प्रतिशत 86.8% था।
2019 में कृष्णनगर दक्षिण विधानसभा में भाजपा को मिली थी बढ़त
कृष्णनगर लोकसभा के अंतर्गत आने वाले 7 विधानसभा क्षेत्रों में से एक है कृष्णनगर दक्षिण विधानसभा। 2019 लोकसभा में यहां से तृणमूल कांग्रेस की महुआ मोइत्रा ने जीत हासिल की थी, लेकिन कृष्णनगर दक्षिण विधानसभा सीट से भाजपा को बढ़त मिली थी। भाजपा को 82781 वोट मिले थे जबकि तृणमूल को 76057 वोट मिले थे। इसके अलावा इस संसदीय क्षेत्र की अन्य दो विधानसभा सीटों कृष्णनगर उत्तर व तेहट्ट पर भी भाजपा ने बढ़त बनायी थी।
इस बार भी मैं ही जीतूँगा – उज्ज्वल विश्वास
मेरा किसी से मुकाबला नहीं है। इस बार भी सौ फीसदी मैं जीत रहा हूं। यहां माकपा और भाजपा एक हो गयी हैं, मुझे हराने के लिए मगर फिर भी नहीं हरा पायेंगी। इस क्षेत्र में जो भी समस्याएं थीं उन्हें दूर कर ली गयी हैं। यहां भाजपा और माकपा की दाल नहीं गलने वाली है।
इस बार जीत जाऊंगा – महादेव सरकार
पिछले 10 सालों से इस क्षेत्र के विकास के लिए तृणमूल ने कुछ नहीं किया है। यहां पेयजल की किल्लत है। स्वास्थ्य परिसेवा उतना उम्दा नहीं है। कोई काम नहीं हुआ है। जनता से अपील है कि इस बार भाजपा को मौका दे। मुझे यकीन है कि इस बार जीत मेरी पक्की है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ताऊ ते का खतरा बढ़ा: कर्नाटक के 6 जिलों में असर, 4 की मौत

नई दिल्लीः गुजरात और महाराष्ट्र समेत पांच राज्यों पर अरब सागर में बन रहे चक्रवात 'ताऊ ते' का खतरा मंडरा रहा है। कर्नाटक के 6 आगे पढ़ें »

फेसबुक लाइव पर फफक पड़े महानगर के डॉक्टर, बोले- ‘आंखों के सामने…

कोलकाताः पूरा देश कोरोना वायरस की चपेट में है। हर तरफ से मौतों, इलाज न मिलने समेत कई ऐसी कहानियां और तस्वीरें सामने आ रही आगे पढ़ें »

ऊपर