विश्व में सबसे अधिक राजनीतिक हिंसा बंगाल में : अमित शाह

‘किसी का घर तोड़ा जाता है तो कहीं दुकानें जलायी जाती हैं’

कोलकाता : मंगलवार को अमित शाह ने आईसीसीआर में राजनीतिक हिंसा के पीड़ित कुछ परिवार वालों से मिलने के बाद उन्होंने बंगाल में राजनीतिक हिंसा को लेकर तृणमूल सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि पहले भी कार्यकर्ताओं के माध्यम से पश्चिम बंगाल में हिंसा की रिपोर्ट मुझे मिलती थी, उसकी गंभीरता भी समझ में आती थी, लेकिन जब पीडि़तों से मिला तो लगा कि शायद ही दुनिया में कहीं इससे ज्यादा राजनीतिक हिंसा होती होगी। बंगाल में राजनीतिक हिंसा के कारण लोगों को जान से हाथ धोना पड़ रहा है। किसी का घर तोड़ा जाता है तो किसी की दुकानें जलायी जाती हैं। क्या यह टैगोर और विवेकानंद का बंगाल है? हम कैसी संस्कृति को आगे बढ़ाना चाहते हैं ? शाह ने कहा कि 6 साल की बच्ची के पेट में गोली मार दी गयी। डॉक्टर भय के कारण गोली नहीं निकाल पा रहे हैं। ऐसी राजनीतिक हिंसा से बंगाल में विकास नहीं हो सकता। जो बंगाल में राजनीतिक हिंसा कर रहे हैं उनके भले में यही होगा कि वह तत्काल राजनीतिक हिंसा बंद करें। तृणमूल के कैडर विरोधियों पर राजनीतिक हिंसा कर रहे हैं। कभी कम्युनिस्टों की ऐसी हिंसा के खिलाफ तृणमूल लड़ती थी। इसी के खिलाफ का जनादेश था कि तृणमूल को पश्चिम बंगाल की जनता ने सत्ता पर बैठाया था। अमित शाह ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं पर अत्याचार करने से पार्टी का विकास और विस्तार नहीं रुकेगा। तृणमूल ऐसे किसी मुगालते में जीना छोड़ दे। भाजपा का जितना दमन और अत्याचार होगा, हमारी पार्टी उतनी ही आगे बढ़ेगी। जो दुनिया भर में मानव अधिकारों की बात करते हैं वह कभी फुर्सत लेकर कोलकाता, बशीरहाट व बीरभूम की राजनीतिक हिंसाओं को रिपोर्ट करें। एक राजनीतिक पार्टी से जुड़ने के कारण उनके मानव अधिकारों का हनन करते हुए उनके रिश्तेदारों की हत्या करवा दी जाती है। शाह ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता सभी अत्याचारों का मुकाबला करेंगे। भाजपा को बंगाल में आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। राजनीतिक हिंसा से पीड़ित लोगों से भी तृणमूल भेदभाव करती है।

‘कांग्रेस में कड़े फैसले लेने का साहस नहीं था’

मंगलवार को अमित शाह ने तृणमूल सरकार पर हमला बोलने के साथ ही कांग्रेस को भी खूब लताड़ा। भाजपा के 3 वर्षों के शासनकाल का लेखा-जोखा प्रस्तुत करते हुए उन्होंने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में देश में असुरक्षा का माहौल था। हर मंत्री खुद को प्रधानमंत्री समझता था और प्रधानमंत्री को कोई प्रधानमंत्री नहीं समझता था। वर्ष 2014 में देश की जनता ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए भाजपा को सत्ता में लाया। इसके बाद 3 वर्ष हो गये और ममता बनर्जी जैसी हमारी धुर विरोधी भी हम पर भ्रष्टाचार का एक आरोप नहीं लगा सकतीं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में नीतिगत विकलांगता थी और कड़े फैसले लेने की क्षमता भी नहीं थी। भाजपा ने सा​बित किया कि देश में गांव और शहर दोनों का विकास एक साथ हो सकता है। पहले देश में 11 करोड़ घरों में शौचालय नहीं था। गत 3 वर्षों में 4.5 करोड़ शौचालय बनवाये गये। 19 हजार घरों में बिजली नहीं थी जबकि भाजपा सरकार ने 14 हजार घरों में बिजली पहुंचायी है। 2018 में मई तक हर घर में बिजली का लक्ष्य हम पूरा करेंगे। पिछले 3 सालों में हमने महंगाई व राजकोषीय घाटे पर काबू पाया। देश तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था में शुमार हुआ है। हम सिर्फ इसलिए फैसले नहीं लेते कि लोगों को अच्छा लगे। हम फैसले इसलिए लेते हैं कि लोगों का अच्छा हो। देश हित में कटुता वाले फैसले लेना कठिन होता है, लेकिन हमने यह कर दिखाया। उड़ी हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 दिन तक चुप बैठे लेकिन 16वें दिन उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक करवायी और पाकिस्तान की सीमा में घुसकर बदला लिया। शाह ने कहा कि भाजपा ने साबित कर दिया कि भारत अपनी प्रतिरक्षा के लिए किसी भी सीमा तक जाकर अपने लोगों की रक्षा कर सकता है। इसके अलावा हमने काले धन और मुखौटा कंपनियों पर भी नकेल कसी।

आज काशीपुर में कार्यकर्ता के घर भोजन करेंगे शाह

आज अमित शाह भवानीपुर के बजाय उत्तर कोलकाता के काशीपुर में भाजपा कार्यकर्ता के घर पर भोजन करेंगे। हालांकि पहले वह भवानीपुर विधानसभा क्षेत्र के लॉर्ड सिन्हा रोड में स्थित एक भाजपा कार्यकर्ता के घर पर भोजन करने वाले थे। इस बारे में प्रदेश भाजपा नेताओं ने कहा कि दक्षिण कोलकाता के बजाय उत्तर कोलकाता में भाजपा के जीत की प्रचुर संभावनाएं हैं जिसे देखते हुए स्थान में परिवर्तन किया गया है।

बिना तथ्य के बोल रहे हैं अमित शाह – तृणमूल
तृणमूल कांग्रेस ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा लगाये गये आरोप पर पलटवार करते हुए कहा कि उनके (अमित) पास शायद पूरी जानकारी नहीं है। उन्नयन का तथ्य को बिना जाने ही ममता बनर्जी पर कटाक्ष कर रहे हैं। मंगलवार को पार्टी मुख्यालय तृणमूल भवन में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए प्रदेश महासचिव पार्थ चटर्जी ने उक्त बातें कहीं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने बंगाल के लिए कई योजनाओं के फंड्स बंद कर दिये तथा कई के फंड्स आधे कर दिये। बंगाल का जितना विकास होना चाहिए केंद्र सरकार की असहयोगिता के कारण नहीं हो रहा है। यह सब अमित बाबू को नहीं पता। बंद दरवाजे के पीछे उकसाने की राजनीति का पाठ पढ़ाया जाता है। जनहित कार्यों में भाजपा यहां तृणमूल से मुकाबला नहीं कर पा रही है इसलिए इस तरह की बयानबाजी की जा रही है। उल्लेखनीय है कि मंगलवार को एक कार्यक्रम में अमित शाह ने सवाल उठाया था कि केंद्र सरकार द्वारा बंगाल को योजनाओं के लिए दिये जाने वाले फंड्स का इस्तेमाल सिंडिकेट में समाप्त हो गये। इससे पहले अमित शाह ने आरोप लगाया था कि दुनियाभर में सबसे ज्यादा राजनीतिक हिंसा कहीं होती है वह बंगाल में। क्या यह टैगोर, विवेकानंद का बंगाल है? भाजपा पर पलटवार करते हुए पार्थ चटर्जी ने कहा कि पहले अपने कारनामे देखें। यूपी चुनाव से पहले वहां हिंसा किसने फैलायी। गुजरात में दंगा के नायक कौन हैं? विभिन्न राज्यों में हिंसा कौन फैला रहा है। बच्चों के हाथों में तलवारें दी जा रही हैं। क्या यह भाजपा की राजनीति है? दिन में आदिवासी के घर में भात खाना और रात में 5 सितारा होटल में खाना, यह कैसी राजनीति है? पार्थ ने सवाल उठाया कि जनता के स्वार्थ के लिए भाजपा ने कितने कार्यक्रम किए। कितनी रैलियां निकालीं। बंगाल में बाढ़ पीड़ितों के लिए केंद्र सरकार ने क्या किया। राज्य में अगली सरकार भाजपा की बनेगी, अमित शाह के इस दावे पर तृणमूल ने कहा कि वे 3 बार क्या 300 बार भी आएंगे तो भी कोई लाभ नहीं होगा।

मुख्य समाचार

भाटपाड़ा में बमबारी जारी, 1 मरा

सर्च अभियान चलाकर पुलिस ने किये 6 बम बरामद भाटपाड़ा : भाटपाड़ा थानांतर्गत 10 नं. गली के रामनगर कॉलोनी में बम विस्फोट होने से एक व्यक्ति आगे पढ़ें »

नए कोच के चयन में नहीं चलेगी विराट की मनमानी

नयी दिल्ली : टीम इंडिया का नया मुख्‍य कोच कौन होगा इस पर फैसला कुछ समय बाद लिया जाएगा। पर बीसीसीआई के एक अधिकारी ने आगे पढ़ें »

कृषि क्षेत्र में विकास के लिए केंद्र और राज्यों को मिलकर करना होगा काम

नई दिल्ली: केंद्र सरकार को कृषि क्षेत्र में सुधार के साथ राज्यों को वित्त आयोग द्वारा किए गए अनुदान और आवंटन को जोड़ना चाहिए। यह आगे पढ़ें »

2018-19 में डिजिटल ट्रांजेक्शन 51 फीसदी बढ़ी, कुल डिजिटल ट्रांजेक्शन 3,133.58 करोड़ के पार पहुंचा

नई दिल्ली : देश में डिजिटल ट्रांजेक्शन तेजी से बढ़ रहा है। वर्ष 2018-19 में डिजिटल ट्रांजेक्शन पिछले साल की तुलना में 51 फीसदी बढ़ी आगे पढ़ें »

निजी क्षेत्र और उपक्रमों को बढ़ावा देकर आर्थिक वृद्धि की रफ्तार तेज करना चाहती है सरकार

नई दिल्ली : केंद्र सरकार निजी क्षेत्र और निजी उपक्रमों को बढ़ावा देकर आर्थिक वृद्धि की रफ्तार बढ़ाने पर जोर दे रही है। इस बारे आगे पढ़ें »

सिंधू का दमदार प्रदर्शन, इंडोनेशिया ओपन के क्वार्टर फाइनल में पहुंची

जकार्ता : भारत की चोटी की शटलर पीवी सिंधू ने डेनमार्क की मिया बिलिचफेल्ट के खिलाफ तीन गेम तक चले संघर्षपूर्ण मैच में जीत दर्ज आगे पढ़ें »

fire in an animation studio in japan, 24 dead

एनिमेशन स्टूडियो में लगायी आग, 24 जिंदा जले

टोक्यो : जापान के क्योटो शहर में गुरुवार सुबह एक एनिमेशन स्टूडियो में आग लगने से 24 लोग जिंदा जल गए जबकि 35 से अधिक आगे पढ़ें »

ऐसे उठा सकते हैं एनपीएस में छुट का लाभ

नई दिल्ली : नेशनल पेंशन योजना (एनपीएस) ने ईपीएफओ से कहीं ज्यादा रिटर्न दिया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक बीते 10 साल में केंद्रीय और आगे पढ़ें »

teachers enclosing legislative assembly lathi charged by the police

विधानसभा का घेराव करने पहुंचे शिक्षकों पर पुलिस ने किया लाठीजार्च

पटना : वेतनमान समेत सात सूत्रीय मांगों को लेकर गुरुवार को राजधानी पटना में विधानसभा का घेराव करने पहुंचे नियोजित शिक्षकों पर पुलिस ने जमकर आगे पढ़ें »

Government told - cases of rape are increasing in trains

सरकार ने बताया – ट्रेनों मे लगातार बढ़ रहे है दुष्कर्म के मामले

नई दिल्ली : देश की सड़कों-गलियों में तो बहू-बेटियां सुरक्षित थी ही नहीं, अब यात्रा के लिए सबसे सुरक्षित मानी जाने वाली ट्रेनों में भी आगे पढ़ें »

ऊपर