कल से 49 रूटों पर चल सकती हैं सरकारी बसें

सड़कों पर बढ़ी सरकारी बसें, निजी बसों का इंतजार
संदीप त्रिपाठी,कोलकाताः महानगर के कई बस रूटों में सरकारी बसों की संख्या बढ़ी है। हालांकि यह नाकाफी नजर आ रही है। आलम यह है कि सोमवार से हर आधे घण्टे पर सरकारी बसें उतारी गईं। वहीं परिवहन विभाग के सूत्रों ने कहा कि बुधवार से महानगर व आस-पास के 49 रूटों पर सरकारी बसें चलाने की योजना तैयार की गई है। ईद के कारण यात्रियों की संख्या सोमवार को कम थी। हालांकि सूत्रों की मानें तो मंगलवार से अचानक यात्रियों की संख्या में वृद्धि होगी। इसकी मुख्य वजह है कि नियमों का पालन कर धीरे-धीरे बसों को चलाने के साथ ही कई प्रतिष्ठान भी खुलने की अनुमति मिल रही है। वहीं दूसरी तरफ निजी बस संगठनों के अब भी महानगर की सड़कों पर उतरने का इंतजार है। ज्वाइंट काउंसिल ऑफ बस सिंडिकेट के महासचिव तपन बनर्जी ने कहा कि सरकार को आवश्यकता है कि हमारी मांगों पर फिर से पुनर्विचार करे। केवल 20 यात्रियों के साथ बसों को चलाए जाने पर हमें जेब से ही खर्च देना पड़ेगा। ऐसे में यह संभव नहीं है कि हम बस को उतार सकें।
आज कई आरटीओ अधिकारी करेंगे बैठक
वहीं दूसरी तरफ जिलों में निजी बस चलवाने के लिए हुगली, कूचबिहार सहित कई जिलों में अलग-अलग आरटीओ कार्यालय में निजी बस मालिकों के साथ आरटीओ अधिकारी बैठक करेंगे। वहीं कई जगहों पर फोन करके निजी बसों को चलाने का अनुरोध किया गया है। हालांकि यहां भी कई समस्याएं बस मालिकों को हैं। ऐसे में फिलहाल जिलों में भी निजी बस उतरने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। बस मिनीबस समन्वय समति के महासचिव राहुल चटर्जी ने कहा कि जिलों में भी बस चलाने से मालिकों को भारी वित्तीय नुकसान होगा, जो पहले से ही लॉकडाउन के कारण गंभीर स्थिति का सामना कर रहे हैं। ऐसे में सरकार को हमारे खर्च पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है। इसे ध्यान में रखते हुए, कुछ दिनों में बसों और मार्गों की संख्या बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। परिवहन विभाग के सूत्रों के अनुसार, यह सेवा सुबह 7 से शाम 7 बजे तक प्रदान की जाएगी। फिलहाल गैर-एसी बसें सड़क पर चलेंगी। एसी बस को अनलोड नहीं किया जाएगा। स्वच्छता नियमों के अनुपालन में एक बस में बीस यात्रियों को लेने के नियम हैं, लेकिन सड़क पर यात्रियों की बढ़ती संख्या के साथ, कई लोग स्टॉप पर बस का इंतजार कर रहे हैं। ऐसे में बस की संख्या बढ़ाई जा
रही है।
एक नजर इस पर भी
-फिलहाल 15 रूटों में सरकारी बसें आधे घण्टे के अंतराल पर
-49 रूटों में सरकारी बसों को उतारने की योजना
– पहले ट्रीप में 250 से 300 बसें और दूसरे में भी लगभग 160 बसें उतारी जाएंगी

शेयर करें

मुख्य समाचार

मोबाइल फोन से चीनी ऐप डिलीट करने पर मुफ्त में दिया जा रहा मास्क

बहराइच (उप्र) : चीन और भारत की आपसी तनातनी के बीच बहराइच की भाजपा विधायक और पूर्व मंत्री अनुपमा जायसवाल ने लोगों के मोबाइल फोन आगे पढ़ें »

मैं गरीबों की मदद कर रहा था, इमरान के मंत्री छुट्टियां मना रहे थे : अफरीदी

इस्‍लामाबाद : शाहिद अफरीदी ने इशारों में इमरान खान सरकार पर निशाना साधा। अफरीदी के मुताबिक, इमरान सरकार में एकता की कमी है और ये आगे पढ़ें »

ऊपर