…और इस तरह जरूरी हो गया पूर्ण लॉकडाउन

कोलकाता : कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार ने बड़ा फैसला लिया है, जिसके तहत अगले सप्ताह 3 दिन राज्य में पूर्ण लॉकडाउन और उसके बाद हर सप्ताह 2 दिन पूर्ण लॉकडाउन किया जाएगा। राज्य सरकार का यह भी कहना है कि राज्य के कुछ जगहों में कम्युनिटी ट्रांसमिशन शुरू हो चुका है। इसके अलावा कोरोना के मामले अब तेजी से बढ़ रहे हैं, जिसे देखते हुए कम से कम सप्ताह में 2 दिन पूर्ण लॉकडाउन जरूरी हो गया है। आखिर किस तरह बंगाल में मामले लगातार बढ़ते गये और क्यों अब पूर्ण लॉकडाउन आवश्यक हो गया। पिछले मामलों पर गौर करें तो इसका अंदाजा लगाया जा सकता है कि आखिर क्यों राज्य में पूर्ण लॉकडाउन जरूरी हो गया है।
मार्च में कुल संक्रमित थे 22, अप्रैल में हुए 572
गत मार्च महीने में राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या केवल 22 थी और एक दिन में 2 से 3 लोग संक्रमित हो रहे थे। कोरोना कितनी तेजी से बढ़ रहा है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मार्च के बाद 30 अप्रैल तक राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 22 से बढ़कर 572 पर पहुंच गयी। वहीं अप्रैल के अंत तक कुल मृतकों की संख्या 33 हो गयी।
मई से जून तक बढ़े 13,058 मामले
राज्य में गत 31 मई तक कोरोना के कुल मामलों की संख्या 5501 थी। इस दौरान हर रोज लगभग 350 मामले आ रहे थे। वहीं कुल 245 लोगों की मौत हो चुकी थी और डिस्चार्ज रेट 39.21% था। वहीं जून महीने में 30 जून तक कुल मामलों की संख्या बढ़कर 18,559 पर पहुंच गयी और हर रोज लगभग 650 नये मामले सामने आने लगे। कुल मृतकों की संख्या भी बढ़कर 668 पर पहुंच गयी। हालांकि इस दौरान डिस्चार्ज रेट भी बढ़कर 65.35% पर पहुंच गया। यानी मई से जून तक केवल एक महीने में ही कुल 13,058 मामले बढ़े।
अब कुछ ऐसी है स्थिति
जुलाई महीना खत्म होने में अभी 10 दिनों का समय है, लेकिन अभी तक कोरोना राज्य में विस्फोटक स्थिति में पहुंच चुका है। 20 जुलाई तक के आंकड़ों को देखने पर पता चलता है कि अब तक राज्य में कोरोना से कुल संक्रमितों की संख्या 44,769 पर पहुंच गयी है। वहीं कुल मृतकों की संख्या 1147 हो गयी है। अब एक दिन में 2,000 से अधिक मामले सामने आ रहे हैं।
कुछ जिलों ने अधिक बढ़ायी चिंता
कुछ जिलों में कोरोना के अधिक मामले सामने आये जिसने राज्य सरकार की चिंता बढ़ायी। इस कारण सरकार को सप्ताह में 2 दिन पूर्ण लॉकडाउन की ओर अग्रसर होना पड़ा। खासकर कोलकाता, हुगली, हावड़ा, उत्तर व दक्षिण 24 परगना में मामले लगातार बढ़ते गये।
नागेरबाजार का आरएन गुहा रोड जो कंटेनमेंट जोन है

शेयर करें

मुख्य समाचार

खाने में नमक-मिर्च हो गया है ज्यादा तो कम करने के लिए अपनाएं ये उपाय

कोलकाता : भोजन बनाना एक कला है। इसमें बरती गई थोड़ी सी भी लापरवाही आपके मूड के साथ-साथ खाने का स्वाद भी बिगाड़ सकती है। आगे पढ़ें »

गुरुवार को करें ये उपाय, बढ़ जाती है अपार धन मिलने की संभावना

कोलकाता : गुरु ग्रह से जुड़ाव के कारण गुरुवार को बेहद खास माना जाता है। हिंदू धर्म के लोग इस दिन व्रत रखते हैं और आगे पढ़ें »

ऊपर