ऑनलाइन स्ट्रीमिंग खत्म कर रहा है सिंगल स्क्रीन का जमाना ?

आज के आधुनिक युग में बड़े-बड़े मल्टीप्लेक्स के साथ अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे सिंग्ल स्क्रीन सिनेमा हॉल बंद होते जा रहे है। ऑनलाइन स्ट्रीमिंग के जमाने ने जैसे सिंगल स्क्रीन सिनेमा हॉल का मार्केट पूरी तरह डुबा दिया है। मेट्रो सिनेमा हॉल बंद होने के बाद अब उसकी जगह 6 मंजिला मल्टीप्लेक्स और फूड कोर्ट बनाया जाएगा। वहीं एलिट सिनेमा हॉल ने 78 वर्षों का सफर पूरा करते हुए आखिरी सांस ली है। जहां सिंग्ल स्क्रीन सिनेमा हॉल में पहले लंबी लाइनें लगती थीं, हर शो हाउसफुल होता था अब वह नजारा खत्म होता जा रहा है। सिंगल स्क्रीन कई ऐसे सिनेमा हॉल हैं जो बंद हो गये हैं और कई बंद होने के कगार पर हैं।

बदलते जमाने के साथ कुछ सिनेमा हॉल भी बदले

पैराडाइज के मैनेजर अमर बहादुर सिंह ने बताया कि मल्टीपलेक्स के जमाने में सिंग्ल स्क्रीन भी चल सकता है। मगर जरूरत है आपको वक्त के साथ खुद में बदलाव लाने की क्योंकि चार्लस डारविन का सिद्धांत है कि अपने अस्तित्व के लिए आपको लड़ने की जरूरत है और हम वही कर रहे हैं। जहां बहुत सारे सिंग्ल स्क्रीन सिनेमाहॉल बंद हो रहे हैं, वहीं पैराडाइज में फिल्मों के हाउसफुल होने का कारण बस यही है कि हमने बदलते वक्त के साथ सिनेमाहॉल में बदलाव किया है। जो सुविधाएं मल्टीपलेक्स में हैं, वहीं सुविधाएं आपको सिंग्ल स्क्रीन में मिले तो फिर क्या बात होगी। लोगों को एंटरटेनमेंट से मतलब है, फिल्म अगर अच्छी होगी तो लोगों की भीड़ अपने आप आएगी।

ईस्टर्न इंडिया मोशन पिक्चर्स एसोसिएशन केकृष्ण नारायण डागा ने बताया कि सिंगल स्क्रीन में पहले 1000 लोगों के बैठने की जगह होती है मगर अब इतने लोग हॉल में फिल्म देखने नहीं आते हैं। मल्टीप्लेक्स में भी वीकेंड पर ही ज्यादा भीड़ होती है वरना ऐसे तो मल्टीप्लेक्स भी खाली रहते हैं। लोगों की सोच के साथ लोगों का फिल्म देखने का नजरिया बदला है। अब लोग ऑनलाइन स्ट्रीमिंग कर फिल्में देख लेते हैं। हालांकि ऐसा नहीं कहा जा सकता कि सिंगल स्क्रीन का जमाना खत्म हो गया है बल्कि सिंगल स्क्रीन भी बदलते दौर के साथ खुद को बदलने का प्रयास कर रहा है।

महानगर में बंद हैं कई सिंगल स्क्रीन सिनेमा हॉल

ग्लोब, मेट्रो, पूर्वी, मयूर, ग्रेस, लाइटहाउस, टाइगर, लोटस, ज्योति, न्यू सिनेमा, चॉपलिन, ओपेरा, श्री, अरुणा, पूर्णा, क्राउन, ओरिएंट, उज्जवला, मजेस्टिक

महानगर में अब भी चल रहे हैं सिंगल स्क्रीन सिनेमा हॉल

सोसाइटी, रीगल, रॉक्सी, न्यू एम्पायर और पैराडाइज

शेयर करें

मुख्य समाचार

किडनी की समस्या का आयुर्वेद में है इलाज, पढ़ें

नई दिल्ली : किडनी शरीर का महत्वपूर्ण अंग है और फिल्टर माना जाता हैं, यह हमारे शरीर में मौजूद टॉक्सिन को बाहर निकालने का काम आगे पढ़ें »

germany

जर्मनी के पूर्व राष्ट्रपति के बेटे की चाकू से की हत्या

बर्लिन : जर्मनी के पूर्व राष्ट्रपति रिचर्ड फोन के बेटे की चाकू घोंपकर हत्या कर दी गयी। बर्लिन शहर में एक अस्पताल में घुसकर हमलावर आगे पढ़ें »

ऊपर