ऑक्सन में माफिया राज, दो व्यवसायी समेत 3 गिरफ्तार

दूसरे राज्य के माफिया के साथ मिलकर बजरंगबली के व्यवसायी की हत्या की रची थी साजिश
हावड़ा सिटी पुलिस के बेलूड़ व डीडी ने मिलकर किया पर्दाफाश

मेघा सुरोलिया

हावड़ा : हावड़ा का बजरंगबली मार्केट जो​ कि एशिया का सबसे बड़ा लोहा मार्केट है। यहां रोजाना करोड़ों रुपये का कारोबार होता है। ऐसे में वसूली से लेकर हत्या तक की साजिश रची जाती है। यह काम होता है दूसरे राज्यों के माफिया के इशारों पर और बजरंगबली के दो व्यवसाइयों ने इन्हीं साजिशों को अंजाम देने के लिए उक्त माफियाओं से हाथ मिला लिया। इसके बाद लगातार बजरंगबली के एक धनी व्यवसायी को रोजाना जान से मारने की धमकियां मिलने लगीं। उस व्यवसायी ने बिना देरी किये इस बात की जानकारी दी हावड़ा सिटी पुलिस को। फिर क्या था पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए बजरंगबली के ही दो मझोले व्यवसायी समेत एक दूसरे राज्य के व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। इस बारे में पुलिस आयुक्त कुणाल अग्रवाल ने सन्मार्ग को बताया कि उक्त व्यवसाइयों के नाम अजय फिटकरीवाला व उपेंद्र कुमार उर्फ डब्ल्यू सिंह है और एक अभियुक्त आदित्य उर्फ बिट्टू सिंह है। दोनों व्यवसायी सिंथी व लेक टाउन के रहनेवाले हैं। वहीं बिट्टू रांची का रहनेवाला है। इस मामले में और कौन कौन शामिल हैं, इसे लेकर भी पुलिस ने दूसरे राज्यों में अपना अभियान चलाया है।
नीलामी में जाना है कि नहीं माफिया करते हैं तय
पुलिस के अनुसार बजरंगबली में भारी कीमतों पर स्क्रैप का कारोबार होता है। इसमें बड़ी-बड़ी लोहे की मशीनों की नीलामी होती है। ऐसे में यहां पर माफियाओं की नजर पड़नी स्वाभाविक है। रेलवे के इन मशीनों की नीलामी में भाग लेना है कि नहीं इसके लिए माफियाओं द्वारा व्यवसाइयों को होशियार किया जाता है।
नीलामी ​जीतने की कोशिश में लगा था व्यवसायी
बजरंगबली के उसी धनी व्यवसायी के साथ उन्हें रोजाना धमकी मिल रही थी कि उन्हें रास्ते से हटा दिया जायेगा। आरोप है कि वह व्यवसायी नीलामी को जीतने की कोशिश कर रहा था। सूत्रों से मिली जानकारी के बाद हावड़ा सिटी पुलिस जांच में जुटी। इसके लिए पुलिस की एक विशेष टीम तैयार की गयी। पुलिस सूत्रों के अनुसार रांची से उक्त व्यवसायी को लगातार धमकी भरे फोन आ रहे थे। सन्नी सिंह नामक माफिया की ओर से बजरंगबली में अपने गुर्गे छोड़े हुए थे।
रांची के रहनेवाले कुख्यात ने किया खुलासा
इस मामले में पुलिस ने सबसे पहले माफिया के गुर्गे मुन्ना शर्मा को गिरफ्तार किया। उसे गिरफ्तार करने के बाद पता चला कि न्यू टाउन इलाके से बिट्टू नामक एक बदमाश उक्त माफियाओं के लिए यह मुख्य एजेंट के रूप में काम करता था। गत सप्ताह राज्य छोड़कर बिट्टू रांची जानेवाला था। इसके बाद पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर बिट्टू को एअरपोर्ट से धर दबोचा। इससे ही सारे मामले का खुलासा हुआ। उसकी गिरफ्तारी के दो दिनों के अंदर उक्त व्यवसाइयों को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस का दावा है कि रांची के रहनेवाले एक कुख्यात माफियाओं के साथ उक्त दोनों व्यवसाइयों के सम्पर्क थे। कोई और निलामी में भाग न ले सके। इसके लिए रांची के माफियाओं को सुपारी दी जाती थी। साथ ही निलामी के बाद एक मोटी रकम वहां पर पहुंचायी जाती थी। पुलिस अजय व डब्ल्यू को पुलिस हिरासत में लेकर मामले की छानबीन में जुटी है।
बजरंगबली पर कई अपराधियों की नजर
पुलिस का कहना है कि बजरंगबली पर कई अपराधियों की नजर है। इसके कारण यहां पर इस प्रकार की घटनाएं घट चुकी हैं। गौरतलब है कि कई सालों पहले किशनलाल जैन नामक एक व्यवसायी की पहले ही हत्या की जा चुकी है। उसमें अमित चौधरी नामक एक माफिया का नाम जुड़ा था, जो कि नेपाल से अपनी नजर बनाये हुए था। बाद में अमित के ​पुलिस गिरफ्त में आने के बाद व्यवसायी शांति से व्यवसाय कर रहे थे। परंतु इस मामले ने एक बार व्यवसाइयों में आतंक पैदा कर दिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टी नटराजन ने रचा इतिहास, एक ही दौरे पर तीनों प्रारूपों में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण

ब्रिसबेन: आस्ट्रेलिया में नेट गेंदबाज के तौर पर आये तेज गेंदबाज थंगारासु नटराजन शुक्रवार को इतिहास रच दिया। एक ही दौरे पर तीनों प्रारूपों में आगे पढ़ें »

गूगल ने फिटबिट का 2.1 अरब डॉलर का अधिग्रहण पूरा किया

सान रेमन: इंटरनेट व प्रौद्योगिकी कंपनी गूगल ने फिटनेस उपकरण बनाने वाली कंपनी फिटबिट का 2.1 अरब डॉलर का अधिग्रहण गुरुवार को पूरा कर लिया। आगे पढ़ें »

ऊपर