उलझन में एम आर बांगुर अस्पताल प्रबंधन, कोरोना से लड़े कि मोबाइल चोरों से

सन्मार्ग संवाददाता,कोलकाता : एम.आर बांगुर अस्पताल को राज्य सरकार ने कोरोना संक्रमण के मामलों से निपटने के लिए चयनित किया है। फिलहाल अस्पताल प्रबंधन इस बात से परेशान है कि वो वायरस से लड़े की परिसर में सक्रिय मोबाइल चोरों से। एम.आर बांगुर अस्पताल में फिलहाल सुरक्षा के कड़े इंतजाम हैं। इसके बावजूद अस्पताल के आईशोलेशन वार्ड में भर्ती कई मरीजों के मोबाइल फोन गायब हो रहे हैं। अस्पताल में मोबाइल गायब होने की घटना को देखते हुए अस्पताल प्रबंधन ने अस्पताल परिसर में नजरदारी बढ़ा दी है।
एक सप्ताह में 7 मोबाइल फोन हुए गायब
अस्पताल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अस्पातल के वार्ड 4 से पिछले एक हफ्ते में करीब 7 मोबाइल फोन गायब हो गए हैं। इसके बाद से ही निगरानी बढ़ा दी गयी है। अस्पताल प्रबंधन ने क्वारंटाइन में आए लोगों के वार्ड में इलाजरत मरीज के रिश्तेदारों के आने पर रोक लगा दी है। कुछ मरीज के परिजन पीछे की गेट से वार्ड में चले आते थे। हालांकि अभी तक इन मामलों में कोई अधिकारिक शिकायत नहीं दर्ज करायी गयी है। इसके बावजूद अस्पताल के अंदर सुरक्षा बढ़ा दी गयी है। क्वारंटाइन में रखे मरीजों को घूमने नहीं दिया जा रहा है। इसके अलावा बाहरी लोगों को ऊपर आने नहीं दिया जा रहा है।
मोबाइल मामले में अस्पताल ने विभागीय जांच चालू की
अस्पताल के एक अधिकारी ने बताया कि मोबाइल गायब होने के मामले में शिकायत के आधार पर अस्पताल की ओर से विभागीय जांच शुरू कर दी गई है। अस्पताल प्रबंधन ने अपने कर्मियों को सतर्क रहने के लिए कहा है। अस्पताल के वार्ड में मोबाइल के इस्तेमाल पर कोई रोक नहीं है, इसलिए अस्पताल ने सभी मरीजों को अपने मोबाइल का ध्यान रखने की अपील की है। पिछले दो-तीन दिनों में कोई नयी शिकायत नहीं मिली है। वार्ड से मोबाइल गायब करने वाला कोई मरीज भी हो सकता है या फिर कोई चोर जो किसी तरह वार्ड में घुस आया हो। फिलहाल निगरानी तेज कर दी गयी है।
एम.आर बांगुड़ अस्पताल में 200 मरीज है इलाजरत
3 अप्रैल को राज्य सरकार की ओर से एम.आर बांगुर अस्पताल को शहर का पहला कोविद-19 अस्पताल के रूप में घोषित किया था। इसके बाद ही अन्य बीमारी से ग्रस्त मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया था। अस्पताल ने करीब 1100 बेड की दो बिल्डिंग के साथ पूर्ण रूप से कोविद अस्पताल के रूप में काम करना चालू किया। मंगलवार की सुबह तक अस्पताल में 200 से अधिक मरीज भर्ती थे। अधिकतर लोग सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक में भर्ती हुए हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

भाई-बहन ने किया प्रेम विवाह तो पिता ने जीते-जी किया…

झारखंड : झारखंड के रामगढ़ में रिश्ते को कलंकित करने वाली घटना के बाद एक पिता ने जीते-जी अपनी बेटी के पुतले का अंतिम संस्कार आगे पढ़ें »

भोजपुरी नायक धीरज पंडित समेत कई तृणमूल में शामिल

कोलकाता : भोजपुरी फिल्म जगत के जानेमाने नायक व डायरेक्टर धीरज पंडित समेत कई हस्तियां गुरुवार को तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए। राज्य की मंत्री आगे पढ़ें »

ऊपर