आ रही आधुनिक मशीन, एक दिन में होंगे एक लाख टेस्ट !

कोलकाताः कोरोना टेस्टिंग को बढ़ाने के लिए अब राज्य सरकार का स्वास्थ्य विभाग आधुनिक मशीन ला रहा है। मशीन स्वीडन से समुद्र के रास्ते लाई जा रही है। इसके आने से एक दिन में इस मशीन से औसतन एक लाख तक के सैंपल टेस्ट किए जाने की उम्मीद है। सूत्रों की मानें तो आईसीएमआर से इसके लिए अनुमति मांगी गई थी। पहले चरण में आठ ऐसे उपकरण लाए जाएंगे। प्रत्येक कोबास नामक उपकरण से पांच से छह घंटे में औसतन बारह हजार लोगों की लार की जांच कर रोग का निदान किया जाना संभव है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, पहले चरण में कोबास का उपयोग मुख्य रूप से चयनित सरकारी अस्पतालों और प्रयोगशालाओं में कोलकाता और उत्तर बंगाल में किया जाएगा। आवश्यकतानुसार बाद में उपयोग बढ़ाया जाएगा। राज्य के स्वास्थ्य सेवा निदेशक (डीएचएस) डॉ. अजय चक्रवर्ती ने कहा कि “आठ कोबास मशीनें इसी महीने लाई जाएंगी। इससे जल्द परीक्षण शुरू होंगे।”
कोबास मशीन क्या है?
कोबास एक टेस्टिंग मशीन है, जिससे एक साथ कई मरीजों का टेस्ट किया जा सकता है। इसकी रिपोर्ट भी जल्द आ जाती है। फिलहाल टेस्टिंग रिपोर्ट मिलने में 24 से 48 घंटे तक लग जाते हैं। इस मशीन से सैंपल टेस्ट के रिजल्ट जल्द मिलेंगे। साथ ही मरीजों को आइसोलेट करने में मदद मिलेगी। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कोबास मशीन के लिए अनुमति दी है। पूरी तरह से कंप्यूटरीकृत इस आधुनिक मशीन से कोरोना के नमूनों की जांच में तेजी आएगी। इससे एक दिन में लगभग एक लाख नमूनों को जांचा जा सकता है।
उच्च गुणवत्ता व अधिक मात्रा में परीक्षण करने में कारगर
राज्य का स्वास्थ्य विभाग नाइसेड के साथ मिलकर इसे ला रहा है। जल्द ही जांच मशीन के कोलकाता में उपलब्ध होने की उम्मीद है। स्कूल ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसीन के निदेशक डॉ.प्रतीप कुमार कुण्डू ने कहा कि यह मशीन रोबोटिक्स की क्षमता वाली एक परिष्कृत मशीन है, जो स्वास्थ्य कर्मियों के संक्रमित होने की आशंका को भी कम करती है। दरअसल, यह उच्च गुणवत्ता और अधिक मात्रा में परीक्षण करने में कारगर है। इससे राज्य में कोरोना वायरस की परीक्षण क्षमता को बढ़ाने में मदद मिल सकेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

12 अगस्‍त को दुनिया की पहली कोरोना वैक्‍सीन होगी पंजीकृत

वायरस टीके के लिए रूस की जल्दबाजी ने पश्चिम में चिंताएं बढायीं मॉस्को : दुनियाभर में जहां कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो आगे पढ़ें »

बीसीसीआई का दावा, यूएई में आईपीएल कराने को केंद्र सरकार की हरी झंडी

नयी दिल्ली : भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में कराने की मंजूरी मिल गयी है आगे पढ़ें »

ऊपर