आशंका से ज्यादा की तबाही, कई हजार करोड़ का नुकसान

उत्तर और दक्षिण 24 परगना में भारी तबाही
सन्मार्ग संवाददाता,कोलकाता : अनुमान से ज्यादा तबाही मचाया अम्फान ने। कई लाख करोड़ का राज्य को नुकसान पहुंचा है। पूरे बंगाल में घंटों तक महातूफान ने तांडव मचाया। बात करें कोलकाता की तो शायद इस शहर ने इससे पहले ऐसा मंजर नहीं देखा था। अनुमान था कि स्पीड 120 का मगर कोलकाता और दमदम में 135 की स्पीड में था तूफान। वहीं बंगाल में इसकी स्पीड 190 कि.मी. प्रति घंटा तक थी। आइला ने तबाही की थी मगर कोलकाता में इतना नुकसान नहीं पहुंचा था। सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि अनुमान से ज्यादा तबाही मची है। कई हजार करोड़ यहां तक कि लाख करोड़ का नुकसान पहुंचा है। अभी तक पूरा हिसाब लगाना मुश्किल है। रास्ता, ब्रिज, नदी का बांध चारों को ध्वंस हो चुका है। एक तरफ कोरोना तो दूसरी तरफ महातूफान से हाल बेहाल हो रहा है।
उत्तर से लेकर दक्षिण केवल नुकसान ही नुकसान
सीएम ने कहा कि सबसे ज्यादा उत्तर 24 परगना और दक्षिण 24 परगना में नुकसान पहुंचा है। बिजली कनेक्शन, पानी कनेक्शन, रास्ता, ब्रिज सब नया से बनाना होगा। दक्षिण का पाथेरप्रतीम, जयनगर, बारुईपुर, सोनारपुर,इधर उत्तर में हंसनाबाद, हाबरा चारों ओर बिग डिजास्टर है। कभी सोचा नहीं था कि ऐसा भी होगा।
तूफान ने नवान्न में भी पहुंचाया नुकसान
तूफान ने नवान्न में भी काफी नुकसान पहुंचाया। कई दफ्तरों की खिड़कियां चटक गयीं। कई दरवाजे भी टूट गये। पूर्व मंत्री शोभन चटर्जी के कमरे में भी नुकसान पहुंचा। इसी तरह से कई अधिकारियों के कमरे में भी काफी नुकसान पहुंचा। सीएम ने सभी जिलों को निर्देश दिया है कि अम्फान के कारण कितना कहां नुकसान हुआ, इसकी रिपोर्ट तैयार करें। इसे लेकर गुरुवार को अहम बैठक होगी।
जब 14 तल्ले से 2 तल्ले पर आ गयीं सीएम
जब तूफान से पूरा बंगाल कांप रहा था इससे नवान्न भी अछूता नहीं था। सीएम ने कहा कि नवान्न भी मानों डोल रहा था। वे 14 तल्ले पर अपने कार्यालय में गयीं मगर वहां इतना कंपन था कि वे दूसरे तल्ले में आ गयी। यहां कंट्रोल रूम से पूरी स्थिति पर नजर रखी थीं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में ध्वनि प्रदूषण रोकने के लिए लगेंगे 2,000 से ज्यादा निगरानी यंत्र

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में ध्वनि प्रदूषण पर रोक लगाने के प्रयासों के तहत राज्य में 2,000 से ज्यादा ध्वनि निगरानी यंत्र लगाए जा रहे आगे पढ़ें »

चीन के बाद अब भारत भी 1.5 किमी पीछे हटा : अधिकारी

नयी दिल्ली : भारत-चीन के बढ़ते तनाव के बीच भारत और चीन के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के बीच हुई बातचीत के बाद गलवान घाटी में आगे पढ़ें »

ऊपर