आपके बेटे को कोई नुकसान नहीं पहुंचाऊंगा – बाबुल

देवाजंन की मां ने लगायी बाबुल से बेटे को माफ करने की गुहार

कोलकाता : सोशल मीडिया पर उनके बेटे की पोस्ट वायरल हुई है जिसमें उसे केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो के केश खींचते हुए दिखाया गया है। इसके बाद से संस्कृत कॉलेज के भाषा विज्ञान के छात्र देवांजन बल्लभ की कैंसर पीड़ित मां रूपाली बल्लभ को एक पल के लिए भी चैन नहीं है। उन्होंने हाथ जोड़कर बाबुल सुप्रियो से अपने बेटे को माफ करने की गुहार लगायी। रुपाली बल्लभ ने कहा कि वे मीडिया के माध्यम से मंत्री बाबुल सुप्रियो के समक्ष हाथ जोड़कर प्रार्थना करती हैं कि वे उसे क्षमा कर दें। उनके बेटे को पुलिस के हाथों में ना सौंपे क्योंकि ऐसा करने से उसकी पढ़ाई एवं करियर नष्ट हो जाएगा। मैंने सुना है वे (बाबुल) बड़े दिल वाले इंसान हैं। बहुत कष्ट करके बेटे देवांजन को बड़ा किया है। रुपाली बल्लभ ने कहा कि जादवपुर विश्वविद्यालय की घटना के बाद जब उन्होंने अपने बेटे की तस्वीर न्यूज चैनलों एवं अखबारों में देखी तो उन्होंने देवांजन को काफी फटकार लगायी। मां की इस अर्जी पर बाबुल सुप्रियो ने जवाब भी दिया। उन्होंने ट्वीट कर बताया कि देवांजन के खिलाफ वह कोई कार्रवाई नहीं करेंगे। बाबुल ने ट्वीट किया, ‘चिंता ना करें मासी मां। मैं आपके बेटे को कोई नुकसान नहीं पहुंचाउंगा। वह अपनी गलती से शिक्षा ले, यही चाहता हूं। मैंने खुद किसी के खिलाफ कोई एफआईआर नहीं करवाया, किसी को करवाने भी नहीं दिया। आप बेवजह चिंता ना करें। जल्द ही स्वस्थ हो जायें। मैं आपको प्रणाम करता हूं।’देवांजन बल्लभ अपने माता – पिता का इकलाैता बेटा है। उसके पिता चंदन बल्लभ बर्दवान टाउन स्कूल में कॉमर्स स्ट्रीम के शिक्षक हैं। वे मूल रूप से रायना के सहजपुर ग्राम के निवासी हैं। फिलहाल वे टाउन स्कूल के ही स्टाफ क्वार्टर में रहते है। देवांजन ने बर्दवान म्यूनिसिपल ब्यायज स्कूल से माध्यमिक की परीक्षा पास की थी। इसके बाद उच्च माध्यमिक की परीक्षा उसने टाउन स्कूल से उर्त्तीण की थी। म्यूनिसिपल ब्वायज स्कूल के प्रधान शिक्षक शंभूनाथ चक्रवर्ती का कहना है कि इसी स्कूल से देवांजन ने माध्यमिक की परीक्षा दी थी, वह पढ़ाई में औसत दर्जे का छात्र था। गत गुरुवार को बाबुल सुप्रियो पर जेयू में हमले की घटना के बाद से देवांजन के माता – पिता की नींद उड़ गयी है। पिता ने स्कूल जाना भी बंद कर दिया है। बेटे की तस्वीर मीडिया और सोशल मीडिया में देखकर कैंसर पीड़ित मां और अस्वस्थ हो गयी हैं। हालांकि बाबुल सुप्रियो के आश्वासन के बाद देवांजन की मां को थोड़ी राहत मिली है। बहरहाल, बताया जाता है कि जादवपुर विश्व विद्यालय की घटना को लेकर रातो-रात सुर्खियो में आने के बाद देवांजन के बारे में जानने के लिए केन्द्रीय इंटेलिजेंस ब्यूरो से लेकर राज्य पुलिस एवं शिक्षा विभाग की तरफ से उन दोनों स्कूलों में संपर्क किया गया है और देवांजन के बारे में तमाम तथ्य जुगाड़ किए जा रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

भोपाल में कोरोना के चार मरीज होम्योपैथी दवा से हुए ठीक

भोपाल : भोपाल में कोरोना वायरस से संक्रमित हल्के लक्षणों वाले मरीजों पर होम्योपैथिक उपचार के अच्छे परिणाम मिलने का दावा किया गया है। होम्योपैथिक आगे पढ़ें »

लॉकडाउन से हुए बेरोजगार मजदूरों, इलेक्ट्रिशियनों को रोजगार दे रहा चक्रवात अम्फान

कोलकाता : बांग्ला कहावत ‘करोर पॉश माश तो करोर सोर्बनाश’ (किसी का नुकसान किसी अन्य का फायदा बन जाना) इन दिनों चक्रवात प्रभावित पश्चिम बंगाल आगे पढ़ें »

ऊपर