आज खत्म हो सकती है जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल

नवान्न में डॉक्टरों के साथ सीएम की होगी बैठक

हर कालेज से 2 प्र​तिनिधि बैठक में होंगे शामिल

मीडिया के सामने खुले मंच पर बैठक हो

सन्मार्ग संवाददाता

कोलकाताः एनआरएस मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल शनिवार को भी जारी रही। वहीं अब सोमवार को हड़ताल के समाप्त होने के संकेत मिल रहे हैं। सूत्रों की मानें तो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जूनियर डॉक्टरों के साथ नवान्न में अपराह्न 3 बजे बैठक कर सकती हैं। इसके लिए उन्होंने रजामंदी भी दे दी है। आंदोलनकारी डॉक्टरों का कहना है कि वे राज्य सरकार से बात करने को तैयार हैं। हर मेडिकल कॉलेज से 2-2 प्रतिनिधियों के आने से कुल 28 प्रतिनिधियों के बैठक में शामिल होने की संभावना है। इससे पहले हड़तालरत डॉक्टर इस बात पर अड़े थे कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को बातचीत के लिए एनआरएस मेडिकल कॉलेज व अस्पताल आना चाहिए। अपनी एक बैठक के बाद डॉक्टरों ने अपने रुख में नरमी का संकेत दिया और कहा कि वे किसी भी तरह की बातचीत के लिए तैयार हैं, इसके लिए बैठक स्थल स्वयं मुख्यमंत्री तय कर सकती हैं। उल्लेखनीय है कि इससे पहले डॉक्टरों ने राज्य सचिवालय में बैठक का मुख्यमंत्री का आमंत्रण ठुकरा दिया था।

जूनियर डॉक्टरों के संयुक्त फोरम के एक प्रवक्ता ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमने संचालन इकाई की बैठक के बाद तय किया है‌ कि हम मरीजों की व्यथा को समझते हुए व वर्तमान समय में चिकित्सा व्यवस्था को समझते हुए बैठक को तैयार हैं। हालांकि इसमें सभी मेडिकल कॉलेज व अस्पतालों के प्रतिनिधि शामिल होंगे। साथ ही खुले मंच पर बैठक की बात कही गई है। साथ ही इस दौरान मीडिया को भी शामिल किए जाने की मांग की गई है। जूनियर डॉक्टरों ने कहा कि हम किसी भी तरह की चर्चा के लिए तैयार हैं।’’ हम भी जल्द से जल्द ड्यूटी पर लौटना चाहते हैं।

बैठक में मीडिया को नहीं मिली अनुमति तो स्वयं वीडियो रिकॉर्डिंग की मांगः

अस्पताल सूत्रों की मानें तो जूनियर डॉक्टरों का कहना है कि यदि मीडिया को बैठक में शामिल होने की अनुमति नहीं मिलती है, तो वह स्वयं ही वीडियो रिकॉर्डिंग के लिए अनुमति मान सकते हैं। इससे वह स्वयं बैठक का डॉक्युमेंटशन कर सकेंगे।

डीएमई के साथ भी जूनियर डॉक्टरों की हुई बैठकः

इससे पहले जूनियर डॉक्टरों ने राज्य के स्वास्थ्य शिक्षा निदेशक (डीएमई) प्रो.प्रदीप मित्रा के साथ बैठक की। साथ ही अपने प्रस्तावों को उनके समक्ष रखा।डीएमई ने ही जूनियर डॉक्टरों के संदेश को राज्य के मुख्य स्वास्थ्य सचिव राजीव सिन्हा को जानकारी दी। इसके बाद राज्य सरकार की ओर से उन्हीं के पास संदेश पहुंचा।

प्रमुख मांगेंः

1- मुख्यमंत्री घायल जूनियर डॉक्टर परिबाह मुखोपाध्याय का हाल जानने के लिए न्यूरो साइंस जाएं। अपने दिए बयान पर निःशर्त क्षमा मांगें

2-जूनियर डॉक्टरों पर हुए हमले की घटना के मामले में गिरफ्तार ‌लोगों की पहचान व उन पर कार्रवाई से जुड़े आवश्यक जानकारी दी जाए

3-एनआरएस मेडिकल कॉलेज व अस्पताल व बर्दवान मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में हुए हमले की न्यायिक जांच की जाए, जूनियर डॉक्टरों की सुरक्षा सुनिश्चित हो

4-डॉक्टरों पर लगाए गए फर्जी मामले बिना शर्त वापस लिए जाएं

5-सभी मेडिकल कॉलेज व अस्पतालों में लिखित सुरक्षा प्रदान करने का आश्वासन दिया जाए

6- अस्पतालों में बुनियादी सुविधाएं विकसित हों

शेयर करें

मुख्य समाचार

लंबित परीक्षण रिपोर्ट पर डेरेक ओ ब्रायन की कोई प्रतिक्रिया नहीं: धनखड़

राज्य में 40 हजार से अधिक परीक्षणों के परिणाम लंबित कोलकाता : पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मंगलवार को कहा कि तृणमूल कांग्रेस के आगे पढ़ें »

Amit Shah

बंगाल में आठ जून को अमित शाह की ऑनलाइन रैली

कोलकाता : केन्द्रीय गृह मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता अमित शाह आठ जून को पश्चिम बंगाल में ऑनलाइन रैली करेंगे। राज्य में पार्टी के आगे पढ़ें »

ऊपर