आखिर क्यों नहीं है गरीब कल्याण रोजगार अभियान में पश्चिम बंगाल : अभिषेक बनर्जी

कोलकाता : केंद्र द्वारा प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने के लिए चालू की गई गरीब कल्याण रोजगार अभियान में बंगाल के एक भी जिले का नाम नहीं है। इस पर तृणमूल युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पार्टी के सांसद अभिषेक बंद्योपाध्याय ने आपत्ति जताई है। उन्होंने केंद्र पर बंगाल के साथ दोहरा व्यवहार करने का आरोप लगाया है। इसे लेकर अभिषेक ने ट्वीट किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल पूछा है कि आखिर क्यों बंगाल के 11 लाख प्रवासी श्रमिकों की अवहेलना की गई ? इस अभियान में यहां के श्रमिकों को क्यों शामिल नहीं किया गया ? बंगाल के श्रमिकों के प्रति आखिर ऐसी उदासीनता क्यों है ? इस ट्वीट में अभिषेक ने प्रधानमंत्री को टैग भी किया है और इस तरह के तमाम सवाल पूछे हैं।
कुछ चुने राज्यों के प्रवासी श्रमिकों को ही मिलेगा रोजगार
उल्लेखनीय है कि कोरोना के बढ़ते वायरस को रोकने के लिये लगे लॉकडाउन के कारण देशभर में अलग-अलग राज्यों में फंसे प्रवासी श्रमिक अपने राज्यों में लौटे हैं। इनमें से बंगाल में 11 लाख प्रवासी श्रमिकों ने घर वापसी की है। राज्य सरकार उन्हें यहीं पर रोजगार देने के लिए योजनाएं चालू करने पर भी काम जारी है। कई श्रमिकों को 100 दिन रोजगार योजना में लगाए जाने की बात चल रही है। इस बीच केंद्र की तरफ से गरीब कल्याण रोजगार अभियान चालू किया गया है, जिसमें कुछ चुने हुए राज्यों के चुने हुए जिलों को ही तालिकाबद्ध कर वहां लौटे प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने पर काम चल रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल मेें फिर आयी कोरोना की बाढ़, एक दिन में अब तक के सबसे अधिक आये मामले

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण के अब तक के सबसे अधिक 743 नये कोरोना वायरस आगे पढ़ें »

दो बार के ओलंपिक चैम्पियन लिन डैन ने अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन को अलविदा कहा

बीजिंग : बैडमिंटन के इतिहास में महानतम खिलाड़ियों में शुमार दो बार के ओलंपिक चैम्पियन चीन के लिन डैन ने शनिवार को अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन को आगे पढ़ें »

ऊपर