अम्फान : एयरपोर्ट पर दिखा तबाही का मंजर

कोलकाता एयरपोर्ट पर अम्फान की स्पीड 130 किमी प्रति घंटा थी, 45 मीटर की दीवार ढही, हैंगर क्षतिग्रस्त, फंसे बड़े विमान
कोलकाता : बुधवार को आये चक्रवाती तूफान अम्फान ने इस कदर तबाही मचायी कि कोलकाता एयरपोर्ट के कई हिस्से उजड़ गये तो कुछ डूब गये। बाहर में पेड़ों के उखड़ने से कई वाहन दब गये। कोलकाता एयरपोर्ट पर अम्फान की स्पिड 130 किमी प्रति घंटा थी और इसने एयरपोर्ट के कई हिस्सों को काफी क्षतिग्रस्त किया है। इस दौरान काफी कुछ एयरपोर्ट के भीतरी हिस्सों मुख्यत: हैंगर आदि इलाके बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुए हैं। वहीं एयरपोर्ट के भीतर ईस्ट व वेस्ट में 45 मीटर की दीवार ढह गयी।
एयरपोर्ट सूत्रों ने बताया कि 2 हैंगर पूरी तरह क्षतिग्रस्त हुए है। वहीं भारी​ बारिश के कारण एयरपोर्ट के एक अंदर के हिस्सों में पानी जमा हो गया। एयरपोर्ट डायरेक्टर कौशिक भट्टाचार्य के मुताबिक अम्फान के कारण एयरपोर्ट पर आपरेशन बंद था लेकिन गुरुवार की दोपहर 12 बजे से एयरपोर्ट पर ऑपरेशन शुरू हो चुका है। जो भी क्षतिग्रस्त हुआ है, उसका मरम्मत कार्य जारी है।

गत बुधवार की शाम डूब गया था एयरपोर्ट का एक हिस्सा
अम्फान तूफान ने चंद घंटों में ही कोलकाता के लोगों को कयामत की झलक दिखा दी। तूफान की रफ्तार जब तक थमी, तो देखने को मिला कि सभी जरूरी कदम उठाये जाने के बावजूद एयरपोर्ट के रन वे इलाके से जुड़े कुछ ​हिस्सों में काफी क्षति हुई है। कोलकाता एयरपोर्ट के भीतरी हिस्से में पानी घुसा तथा कई बड़े विमान में भी पानी देखा गया। एयरपोर्ट का काफी हिस्सा क्षतिग्रस्त भी हुआ है। हर तरफ पानी भर गया। एयरपोर्ट से कार्गो की उड़ानें भी निरस्त कर दी गयी थी। आलम यह था कि यहां खड़े भारी हवाई जहाज तक हिल गए और गनीमत थी बारिश भी हो रही थी इसलिए इन विमानों के कुछ हिस्से पानी में डूब गये। जानकार बताते हैं कि पानी में कुछ हिस्सों के डूबने से हवा का दबाव इन विमानों को अधिक क्षतिग्रस्त नहीं कर पाया अन्यथा रनवे पर विमानों के टुकड़े मिलते।
जब 40 टन के विमान हिलने डुलने लगे
रनवे से लेकर पूरे एयरपोर्ट का नजारा किसी नदी जैसा नजर आया। एयरपोर्ट के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक कोलकाता एयरपोर्ट पर खड़े 40 टन के प्लेन भी चक्रवात अम्फान में थरथराने लगे। देखते ही देखते पूरा एयरपोर्ट जलमग्न हो गया। एयरपोर्ट के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पिछले 20 साल से वे एयरपोर्ट पर कार्यरत हैं लेकिन कभी ऐसी तबाही देखने को नहीं मिली थी। गत बुधवार की रात एटीसी कंट्रोल टावर में काम कर रहे अधिकारियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। कुछ तस्वीरों में एयरपोर्ट पर खड़े प्लेन को देखकर लग रहा है जैसे वह किसी नदी से बीच में उतार दिया गया हो।

शेयर करें

मुख्य समाचार

10 दिसंबर को होगा नए संसद भवन का शिलान्यास

नई दिल्लीः लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शनिवार को कहा कि नए संसद भवन का शिलान्यास 10 दिसंबर को 1 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगे पढ़ें »

सरकार ने किसानों से मांगा 3 दिन का वक्त

सीनियर सिटीजंस और बच्चों से घर लौटने की अपील नई दिल्लीः कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के प्रदर्शन का आज 10वां और अहम दिन था आगे पढ़ें »

ऊपर