अभी तक ठीक है कोलकाता का पर्यावरण, आगे हो सकती है दिक्कत

सन्मार्ग संवाददाता,कोलकाता : अम्फान चक्रवात के एक सप्ताह बाद बुधवार को कोलकाता में पर्यावरण ठीक रहा लेकिन पर्यावरणविदों ने चेतावनी दी है कि लॉकडाउन समाप्त होने के बाद गाड़ियों की संख्या बढ़ने पर पर्यावरण फिर खतरे में आ सकता है। दक्षिण कोलकाता के बालीगंज के एयर क्वालिटी इंडेक्स में बुधवार को अपराह्न 3 बजे पीएम 10 एक्यूआई का 48 रिकॉर्ड किया गया जिसे पर्यावरण के तौर पर बेहतर कह सकते हैं। इसी समय में विधाननगर, जादवपुर, फोर्ट विलियम और रवींद्र सरोवर के एक्यूआई स्टेशनों पर पीएम 10 एक्यूआई का क्रमशः 41, 44, 47 और 20 रिकार्ड किया गया। शून्य से 50 तक एक्यूआई काे बेहतर, 51-100 तक एक्यूआई को संतोषजनक, 101-200 तक एक्यूआई को हल्का प्रदूषित, 201-300 को खराब, 301-400 तक एक्यूआई को ज्यादा खराब और 401-500 तक एक्यूआई को काफी खराब कहा जाता है जबकि 500 से अधिक एक्यूआई को काफी अधिक खराब कहा जाता है। लॉकडाउन के कारण सड़कों पर कम हुई गाड़ियों की संख्या और अम्फान से साफ हुए वातावरण के कारण पर्यावरण स्तर में सुधार आया है। पीएम 10 में एयर मॉनिटरिंग स्टेशनों पर 10-15 तक गिरावट आयी है।
पर्यावरणविद एस. एम. घोष ने कहा, ‘एक बार लॉकडाउन हट गया और वाहनों का आना शुरू हो गया तो कार्बन का धुआं और पीएम 10 व 2.5 दोनों ही तीन से चार गुना तक बढ़ जाएगा।’ प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों ने बताया कि बोर्ड और पर्यावरण विभाग जल्द ही वन विभाग के साथ बैठक कर बड़े पैमाने पर पौधारोपण अभियान करेगा। राज्य के मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा था कि अम्फान के कारण कोलकाता व आसपास में 15,000 से अधिक पेड़ गिर गये थे। हालांकि निगम में बोर्ड ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर के चेयरमैन फिरहाद हकीम का कहना है कि कोलकाता में 5,500 पेड़ गिरे हैं। वहीं पर्यावरणविद सुभाष दत्ता ने कहा कि पौधारोपण अभियान के दौरान पेड़ों की संख्या पर ध्यान दिया गया लेकिन उनकी मजबूती पर नहीं। भविष्य में मजबूत पेड़ों के रोपण पर ध्यान दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि केवल लंबे पेड़ों के रोपण के बजाय छोटे पेड़ जैसे कि बरगद आदि भी लगाये जाने चाहिए। हालांकि अंडरग्राउंड केबल लाइन वाले स्थानों पर पेड़ नहीं लगाये जाने चाहिए। इंडियन इंस्टीट्यूट फॉर नेचर एण्ड एनवायरमेंट सरोज राय ने कहा, ‘गिरे हुए पेड़ों को अगर वातावरण, ऑक्सीजन बनाने और हवा से गंदगी निकालने के तौर पर आंका जाए तो उनका मूल्य करोड़ों रुपये के समान होगा। ’

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल चुनाव में कन्हैया कर सकते हैं प्रचार, ओईशी बनेंगी उम्मीदवार

कोलकाता : विधानसभा चुनाव की तैयारियां सभी राजनीतिक पार्टियां कमर कसकर कर रही हैं। एक तरफ तृणमूल तो दूसरी ओर भाजपा के बीच इस बार आगे पढ़ें »

तृणमूल के घोषणापत्र पर टिकीं निगाहें

कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस इस बार बहुत ही सोच-समझकर अपना घोषणापत्र जारी कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक आज मंगलवार को तृणमूल का घोषणापत्र जारी आगे पढ़ें »

ऊपर