अभी चुप रहा तो सारा जीवन ही चुप रहना होगा – राज्यपाल

ट्वीट कर राज्यपाल ने कहा,
डीएम से मिली चिट्ठी दे रही है गंभीर स्थिति का संकेत
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने बुधवार को ट्वीट कर अपने जिला सफर के कड़वे अनुभवों को एक बार फिर सामने लाया। उन्होंने दो जिलों के डीएम द्वारा दी गयी चिट्ठी मामले को लेकर प्रशासन पर निशाना साधा। राज्यपाल ने बुधवार की सुबह ट्वीट में कहा, अगर अभी चुप रहा तो सारा जीवन ही चुप रहना होगा। उन्होंने कहा कि 21 अक्टूबर को डीएम की ओर से मिली चिट्ठी संभावित गंभीर स्थिति का संकेत दे रहा है। ऐसे मुद्दों पर चुप्पी हमेशा के लिए खामोशी ला सकती है, जिससे हम सभी को बचने की जरूरत है। आगे उन्होंने लिखा, उत्तर तथा दक्षिण 24 परगना जिला दौरे में प्रशासन का कोई भी वरिष्ठ अधिकारी नहीं था। जिला प्रशासन की इस भूमिका ने मुझे हताश किया। दौरे में पूरी तहर से असहयोगिता दिखायी गयी। यह बेहद ही दुख की बात है। बंगाल के राज्यपाल के तौर पर मैं दुखी तथा हैरान हूं। आगे उन्होंने कहा, दौरे के दौरान काफी मेहनती तथा ऊर्जावान अधिकारी से मिलने का मौका मिला मगर मैंने गौर किया कि वे कुछ भी इनपुट देने में असमर्थ महसूस कर रहे थे। हम चाहते हैं कि एक ऐसा परिवेश तैयार हो ताकि वे अपनी प्रतिभा सामने लाएं। उन्होंने कहा कि इन परिस्थितयों की बुद्धिजीवी, शिक्षाविद, राजनीति से जुड़े लोग, समाज से जुड़े व्यक्ति अालोचना करेंगे, ऐसी उम्मीद है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टोक्‍यों ओलंपिक में खिलाड़ियों का पूरा समर्थन करेगा देश : कोविंद

नयी दिल्ली : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को कहा कि 24 जुलाई से नौ अगस्त तक आयोजित 2020 टोक्यो ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व आगे पढ़ें »

बुकर पुरस्कार विजेता जोखा अल हार्सी पहुंचीं जयपुर साहित्य महोत्सव में, लेखन चुनौतियों का जिक्र किया

जयपुरः ओमान की लेखिका एवं बुकर पुरस्कार विजेता जोखा अल हार्सी के लिए लेखन का सबसे दिलचस्प और चुनौतीपूर्ण पहलू समाज में मौजूद अनसुनी और आगे पढ़ें »

ऊपर