अभिषेक बनर्जी के विवादित बोल, कहा- ‘राम की टीआरपी गिरी’

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में जय श्रीराम के नारों पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस बीच मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे और तृणमूल सांसद अभिषेक बनर्जी ने एक विवादित बयान दे डाला है। उन्होंने कहा कि बंगाल में राम की टीआरपी गिर चुकी है। वहीं पद्म श्री से सम्मानित बॉलीवुड फिल्म निर्माता अपर्णा सेन ने इस स्थिति पर कहा है ‌कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कार्यकर्ताओं के जय श्रीराम के नारों का जवाब देकर मुख्यमंत्री खुद अपनी कब्र खोद रही हैं।
राजनीति में धर्म को मिलाने से ही समस्याएं
एक साक्षात्कार के दौरान अपर्णा ने कहा कि ”मुझे यह बिल्कुल पसंद नहीं है। धर्म और राजनीति दोनों अलग-अलग होने चाहिए। राजनीति में धर्म को मिलाने से ही समस्याएं होती हैं। राजनीति में जय श्रीराम, अल्लाह हू अकबर और जय मां काली जैसे नारों पर रोक लगा देनी चाहिए।”
जय महाकाली बोलना शुरू कर दिया है
अभिषेक बनर्जी ने जय महाकाली के नारे को लेकर कहा कि बंगाल में अब भाजपा ने जय श्रीराम की जगह जय महाकाली बोलना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि लगता है टीवी की रेटिंग की तरह जय श्रीराम की टीआरपी भी कम हो गई है। साथ ही अभिषेक बनर्जी ने भाजपा समर्थकों पर राजनीति में धर्म को मिलाने का भी आरोप लगाया।
ममता सरकार खुद ही गिर जाएगी
पश्चिम बंगााल में ममता सरकार पर निशाना साधते हुए भाजपा के महासचिव और बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि ”मैं नहीं समझता कि ममता जी 2021 (विधानसभा चुनाव) तक पहुंच पाएंगी, क्योंकि वे अपरिपक्व की तरह बोलती हैं। हम तो 2021 के लिए तैयारी कर रहे, लेकिन उससे पहले ममता सरकार खुद ही गिर जाएगी।”

बता दें कि जय श्री राम के नारों पर विवाद के बीच प्रदेश की मुख्यमंत्री ने सफाई दी थी कि वह धार्मिक नारों के पीछे की भावनाओं को समझती हैं। साथ ही उन्होंने कहा था कि भाजपा इन नारों का इस्तेमाल पार्टी के स्लोगन के तौर पर कर रही है।

गौरतलब है कि ममता ने गत दिनों नारेबाजी के बाद बीच सड़क पर लोगों को फटकार भी लगाई थी जिसके बाद इस पर विवाद बढ़ता जा रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ऊपर