क्या कह रहे हैं भाजपा समर्थक हावड़ा के मसले पर

तुष्टीकरण का नतीजा है टिकियापाड़ा की घटना : विजयवर्गीय
सन्मार्ग संवाददाता,कोलकाता : मंगलवार को हावड़ा के टिकियापाड़ा में पुलिस पर हमले की घटना की निंदा करते हुए भाजपा की ओर से कहा गया कि अब केवल मात्र अर्द्धसैनिक बल ही एकमात्र विकल्प है। वहीं भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, ‘पुलिस को भागना पड़ा। हावड़ा के टिकियापाड़ा में वहां के लोगों ने पुलिस पर पत्थर बरसाये। एकदम लॉकडाउन है ममता दीदी के प्रदेश पश्चिम बंगाल में ?’ विजयवर्गीय ने कहा, ‘ममता बनर्जी की ऐसी तुष्टीकरण सोच का यह नतीजा तो होना ही था। बंगाल में प्रशासन पूरी तरह असफल हो चुका है।’
प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ‘पश्चिम बंगाल में यह पुलिस की हालत है। जब पुलिस ने टिकियापाड़ा में लोगों को लॉकडाउन मानने को लेकर समझाने की कोशिश की तो उन्हें अपमानित किया गया। कानून – व्यवस्था की यह स्थिति किसके गैर जिम्मेदाराना हरकतों से हुई है ? जो लोग ट्रेनें, बसें और संपत्ति जलाते हैं, क्या वे लॉकडाउन के नियम मानेंगे ? अब राज्य सरकार हालातों से भागने की कोशिश में है। अब केवल मात्र विकल्प है अर्द्धसैनिक बल।’भाजपा के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने इसे तृणमूल सरकार की तुष्टीकरण का नतीजा बताया। उन्होंने कहा कि टिकियापाड़ा इलाका रेड जोन होने के बावजूद वहां लोग लॉकडाउन को नहीं मान रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य में पुलिस दो तरह से काम कर रही है। कहीं पर पुलिस अतिरिक्त सक्रिय नजर आ रही है तो कहीं पर लॉकडाउन मनवाने के लिए पुलिस को हाथ जोड़ने पड़ रहे हैं। टिकियापाड़ा की घटना इसका ताजा उदाहरण है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

यूएस ओपन में भाग लेना संदिग्ध : जोकोविच

बेलग्राद : अपने एड्रिया टूर के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित हुए विश्व के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने अपनी आलोचना आगे पढ़ें »

ओलंपिक : प्रत्येक राज्य से एक-एक खेल चुनने को कहा गया है : रीजीजू

नयी दिल्ली : खेल मंत्री किरेन रीजिजू ने बुधवार को कहा कि सरकार ने ओलंपिक में ज्यादा से ज्यादा पदक हासिल करने की मुहिम के आगे पढ़ें »

ऊपर