अनलॉक में बंगाल में 11% कम हुई बेरोजगारी दर

युवा महिलाओं पर रोजगार का सबसे अधिक असर
सन्मार्ग संवाददाता, कोलकाता : अनलॉक में पश्चिम बंगाल की बेरोजगारी दर लगभग 11% कम हो गयी है। इसके साथ ही पश्चिम बंगाल लॉकडाउन से पहले के बेरोजगारी दर में पहुंच गया है। माना जा रहा है कि अनलॉक के कारण ऐसा हुआ है और दूसरे राज्यों से वापस लौटने वाले प्रवासी श्रमिकों को भी 100 दिवसीय रोजगार योजना के तहत काफी काम मिला है।
अधिक जनसंख्या वाले अन्य राज्यों में भी कम हुई बेरोजगारी
अधिक जनसंख्या वाले दूसरे राज्यों में भी बेरोजगारी दर कम हुई है। इसका उदाहरण सबसे अधिक जनसंख्या वाला उत्तर प्रदेश है जहां बेरोजगारी दर में काफी कमी आयी है। मई में यूपी की बेरोजगारी दर 20.8% थी जो जून महीने में घटकर 9.6% पर पहुंच गयी है। इसी तरह अधिक जनसंख्या वाले महाराष्ट्र में मई महीने में बेरोजगारी दर 16.5% थी जो जून में घटकर 9.7% पर पहुंच गयी। वहीं मध्य प्रदेश में मई में बेरोजगारी दर 27.5% थी जो जून में घटकर 8.2% हो गयी। दिल्ली में मई में 44.9% की तुलना में जून में बेरोजगारी दर 18.2% हो गयी।
कुछ राज्यों के लिए अब भी
चिंता कायम
बेरोजगारी दर कुछ राज्याें के लिए अब भी चिंता का विषय बना हुआ है। हरियाणा में मई में 35.7% की तुलना में जून में बेरोजगारी थोड़ी कम हुई, लेकिन अब भी यहां बेरोजगारी दर 33.6% है। झारखण्ड में बेरोजगारी कम तो हुई है, लेकिन अब भी यह 21% पर कायम है। वहीं त्रिपुरा में बेरोजगारी बढ़ी है। मई में यहां बेरोजगारी दर 15.3% थी जो जून में बढ़कर 21.3% पर पहुंच गयी।
युवा महिलाओं के रोजगार पर
अधिक पड़ा असर
सीएमआईई के सर्वे में पता चला है कि लॉकडाउन के कारण सबसे अधिक युवा महिलाओं के रोजगार पर असर पड़ा है। 30 से कम उम्र के कर्मचारियों का शेयर वर्ष 2019-20 में 20.9% से कम होकर अप्रैल-जून 2020 में 18.8% पर पहुंच गया है। महिला व पुरुष का अनुपात 2019-20 में 8.4 से बढ़कर अप्रैल – जून 2020 में 9.1 पर पहुंच गया।
लॉकडाउन के ठीक पहले राज्य की बेरोजगारी दर 4.9%
गत फरवरी महीने में यानी लॉकडाउन के ठीक पहले राज्य की बेरोजगारी दर 4.9% और जनवरी महीने में यह 6.9% थी। मार्च में बेरोजगारी दर 6.9% थी, लेकिन लॉकडाउन लागू होने के बाद अप्रैल महीने में बेरोजगारी दर 17.4% पर पहुंच गयी। मई महीने में भी बेरोजगारी दर 17.4% थी। हालांकि जून में बेरोजगारी दर कम होकर 6.5% पर पहुंच गयी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मौजूदा भारतीय हॉकी टीम में विश्वस्तरीय रक्षापंक्ति और ड्रैग फ्लिकर: रघुनाथ

बेंगलुरू : पूर्व हॉकी खिलाड़ी वीआर रघुनाथ का मानना है कि मौजूदा भारतीय टीम के पास विश्वस्तरीय रक्षापंक्ति और स्तरीय ड्रैग फ्लिकर हैं और टीम आगे पढ़ें »

आईसीसी बोर्ड की बैठक : बीसीसीआई, सीए में होगी टी20 विश्व कप बदलने पर चर्चा

नयी दिल्ली : भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) और क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) के प्रमुख अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की शुक्रवार को होने वाली बोर्ड बैठक के आगे पढ़ें »

ऊपर