अगर बढ़ते गए मामले…तो कितने तैयार हैं बंगाल के अस्पताल

1700 मरीजों पर एक बेड है देश में
1404 लोगों पर मौजूद हैं एक डॉक्टर
सन्मार्ग संवाददाता, कोलकाताः कोरोना वायरस के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। आलम यह है कि इसकी संख्या में लगातार इजाफा ही हो रहा है। राज्य में ही अब तक कोरोना से 3332 लोग संक्रमित हुए हैं। वहीं कोरोना से 193 की मौत हो चुकी है। ऐसे में अब विशेषज्ञों में चर्चा है कि यदि इसी रफ्तार से संख्या बढ़ती रही, तो जून में मरीजों की संख्या में और इजाफा होगा। ऐसे में यदि हालात बिगड़ते हैं तो संभालना भी मुश्किल हो जाएगा। सरकारी आंकड़ों की मानें तो देश में 1700 मरीजों के लिए एक बेड है। देश में करीब 12 लाख के आसपास एलोपैथिक डॉक्टर हैं। एक समय में इनमें से 80% यानी 9.61 लाख डॉक्टर भी काम करने की स्थिति में होते हैं, तो 1404 लोगों पर एक डॉक्टर ही होंगे। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक, हर 1 हजार लोगों पर एक डॉक्टर होना चाहिए। सेंटर फॉर डिसीज डायनामिक्स, इकोनॉमिक्स एंड पॉलिसी(सीडीडीईपी) की मानें तो देश में सिर्फ 69 हजार 264 अस्पताल हैं। इनमें से 25 हजार 778 सरकारी और 43 हजार 486 प्राइवेट अस्पताल हैं। सवाल यह उठता है कि यदि मरीज और बढ़े तो बंगाल इसके लिए कितना तैयार है।
बंगाल के आंकड़े
कुल वेंटिलेटर- सरकारी अस्पताल- निजी अस्पताल-
2838- 1964- 874
कुल आईसीयू बेड-सरकारी अस्पताल- निजी अस्पताल-
3928- 1748- 5677
कुल अस्पताल- सरकारी अस्पताल- निजी अस्पताल-
2263- 1566- 697
बंगाल में कोरोना रिकवरी रेट- 37.32 %
बंगाल में कोरोना मृत्यु दर- 8.10%
आंकड़े यह भी
कोरोना इलाज के लिए कुल अस्पताल – 69
सरकारी अस्पताल कोरोना इलाज के लिए- 16
निजी अस्पताल कोरोना इलाज के लिए – 53
कोरोना के लिए बेड- 8785
कोरोना के लिए बेड अकुपेंसी दर- 15.80 %
कुल आईसीयू बेड कोरोना हॉस्पिटल में- 920
कुल वेंटिलेटर कोरोना हॉस्पिटल में- 392

शेयर करें

मुख्य समाचार

मैं गरीबों की मदद कर रहा था, इमरान के मंत्री छुट्टियां मना रहे थे : अफरीदी

इस्‍लामाबाद : शाहिद अफरीदी ने इशारों में इमरान खान सरकार पर निशाना साधा। अफरीदी के मुताबिक, इमरान सरकार में एकता की कमी है और ये आगे पढ़ें »

अक्टूबर तक फिर रिंग में लौट आयेंगे विजेंदर

नयी दिल्ली : पिछले छह महीने से रिंग से दूर भारत के स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह को अगले तीन महीने में रिंग में उतरने की आगे पढ़ें »

ऊपर