रांची में छात्रवृत्ति की मांग को लेकर बीएड के विद्यार्थियों का आमरण अनशन

रांची : रांची में बीएड छात्र-छात्राओं के लिए छात्रवृत्ति योजना के तहत उन्हें प्रोत्साहन राशि दी जाती है, लेकिन इस साल इससे जुड़ा पोर्टल को खोला ही नहीं गया है, जिससे यहां के विद्यार्थियों में आक्रोश है और लगातार यह लोग आंदोलन कर रहे हैं। इसी कड़ी में 26 जुलाई को राजभवन के समक्ष सैकड़ों छात्रों ने भूख हड़ताल की शुरुआत की। विभिन्न छात्र वर्गों के लिए अलग-अलग योजनाओं के तहत छात्रवृत्ति योजना चलाई जा रही है। कल्याण विभाग की ओर से अलग छात्रवृत्ति योजना है। राज्य सरकार के शिक्षा विभाग में विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति देती है। वहीं बीएड छात्र-छात्राओं के लिए भी छात्रवृत्ति योजना चलाई जाती है। आर्थिक रूप से कमजोर बीएड करने वाले विद्यार्थियों के लिए अलग से यह योजना संचालित होती है। इसके लिए बाकायदा उच्च शिक्षा विभाग की ओर से एक पोर्टल जनरेट किया गया है और इसी छात्रवृत्ति पोर्टल के तहत विद्यार्थियों तक छात्रवृत्ति की राशि दी जाती है, लेकिन इस वित्तीय साल में अब तक पोर्टल को खोला ही नहीं गया है और इससे लाभान्वित होने वाले सैकड़ों ऐसे विद्यार्थी हैं, जिनकी पढ़ाई बाधित हो गई है। इन विद्यार्थियों की मानें तो साल 2020-21 का बीएड नामांकन जारी है, पर पोर्टल को बंद कर दिया गया है। लगातार इस मामले को लेकर राज्य सरकार को अवगत कराया जा रहा है, पर सरकार इस ओर ध्यान नहीं दे रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

जल-जमाव के कारण ममता की सभा रद्द, आज होगी सभा

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सोमवार को हुई रिकॉर्ड बारिश के कारण मंगलवार को कोलकाता समेत आसपास के कई इलाके जलमग्न रहे। मंगलवार की शाम खिदिरपुर में आगे पढ़ें »

ऊपर