यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची में शामिल हुआ गुलाबी शहर जयपुर

जयपुरः अपनी वास्तुकला और जीवन्त संस्कृति के लिए मशहूर जयपुर को यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची मे शामिल किया गया है। इसकी घोषणा यूनेस्को ने शनिवार को की। बता दें कि राजस्‍थान में 37 विश्व धरोहर स्‍थली है जिनमें चित्तौड़गढ़ का किला, कुंभलगढ़, जैसलमेर, रणथंभोर, और गागरोन का किला शामिल हैं।
प्रधानमंत्री ने दी बधाई
गुलाबी नगरी जयपुर के विश्व धरोहर सूची में शामिल होने पर प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर बधाई दी। उन्होंने लिखा कि ‘जयपुर का संबंध संस्कृति और शौर्य से है। उत्साह से भरपूर जयपुर की मेहमाननवाजी लोगों को अपनी ओर खींचती है। खुशी है कि यूनेस्को ने इस शहर को विश्व धरोहर सूची में शामिल किया।’
पिछले वर्ष भेजा गया था प्रस्ताव
गौरतलब है कि पिछले साल अगस्त में गुलाबी नगरी को विश्व धरोहर सूची में शामिल करने के लिए सरकार ने प्रस्ताव भेजा था। 2018 में आईसीओएमओएस (स्मारक और स्थल पर अंतरराष्ट्रीय परिषद) ने इस शहर का निरीक्षण किया था। नामांकन के बाद बाकू में डब्‍ल्यूएचसी (विश्व धरोहर स्‍थल) ने इसपे गौर किया जिसके बाद इसे यूनेस्को के धरोहर स्‍थल में शामिल किया गया।
यूनेस्को के ‌‌दिशानिर्देश के अनुसार हर साल किसी एक ही शहर को विश्व धरोहर स्‍थल में शामिल करने के लिए सूचित किया जाता है। यूनेस्को द्वारा यह दर्जा मिलने के बाद घरेलू और ‌अंतराष्ट्रीय पर्यटन को बढ़ावा मिलता है। इससे अर्थव्यवस्‍था को मजबूती मिलने के साथ-साथ लोगों को रोजगार मिलता है। साथ ही पर्यटकों के आने से हस्तशिल्प तथा हस्तकरघा उद्योगों को फायदा होता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

देश के पहले मोबिलिटी फेस्टिवल में भविष्य के वाहनों की झलक दिखी

नई दिल्ली: भविष्य के व्यापार और वाहनों के लिए देश के पहले मोबिलिटी मिशन फेस्टिवल का पिछले दिनों नई दिल्ली में ईएमपीआई और नीति आयोग आगे पढ़ें »

दिल पर ही नहीं शरीर पर भी होता है रिश्ता टूटने का असर

नई दिल्ली : कभी न कभी जीवन में हर किसी का दिल टूटता है। लेकिन ब्रेकअप का नाता सिर्फ दिल से नहीं है। रिसर्च कहते आगे पढ़ें »

ऊपर