महाशिवरात्रि पर लगभग सवा करोड़ श्रद्धालुओं ने गंगा व संगम में लगाई डुबकी

  • कुम्भ मेले में स्नान करने वालों की संख्या 24 करोड़ के पार 
  • महाशिवरात्रि पर हर हर महादेव के जयकारों से शिवमय हुआ उत्तर प्रदेश

प्रयागराज : एक करोड़ से अधिक लोगों ने महाशिवरात्रि पर सोमवार को कुम्भ मेले में गंगा और संगम में डुबकी लगायी। यह संख्या मेला प्रशासन के अनुमान से कहीं अधिक है। मेला प्रशासन ने 50-60 लाख श्रद्धालुओं के गंगा और संगम में स्नान करने की संभावना जतायी थी। कुम्भ मेले में अब तक 24 करोड़ से अधिक लोग स्नान कर चुके हैं। सूचना विभाग ने मेलाधिकारी विजय किरण आनंद ने बताया कि सोमवार को महाशिवरात्रि पर्व पर शाम 6 बजे तक 1.15 करोड़ लोगों ने गंगा और संगम में स्नान किया। 15 जनवरी से 3 मार्च तक कुम्भ मेले में स्नान करने वाले लोगों की संख्या 22 करोड़ 95 लाख रही जो अंतिम स्नान पर्व महाशिवरात्रि तक यह संख्या 24 करोड़ से अधिक पहुंच गयी।
लखनऊ : शिव शक्ति के विवाह के साक्षी शिवरात्रि महापर्व के अवसर पर सोमवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच धार्मिक नगरी वाराणसी, प्रयागराज, अयोध्या सहित पूरे प्रदेश में आस्था का सैलाब हिलोंरे लेते दिखायी पड़ा। शिव की नगरी काशी में तड़के से ही शिवालयों पर घंटा घड़ियाल के बीच हर हर महादेव के जयकारे गूंजने लगे। बाबा विश्वनाथ मंदिर में रविवार देर रात से ही श्रद्धालु गंगा नदी में स्नान कर दर्शन के लिये लगी लाइन खड़े हो गये थे। लंबी कतार में लगे कावंडि़यों द्वारा के जयकारे से माहौल शिवमय बन गया। शरारती तत्वों पर निगाह रखने के लिये लगे सीसीटीवी कैमरे सुरक्षा बलों की मदद कर रहे थे। कई स्थानों पर भीड़ को नियंत्रित करने के लिये ड्रोन का सहारा भी लिया जा रहा था। राम की नगरी अयोध्या, कान्हा की नगरी मथुरा के अलावा गढ़ मुक्तेश्वर, बरेली, मुरादाबाद, कानपुर, बलिया और लखनऊ समेत समूचे राज्य में शिवभक्तों ने कतार लगाकर जलाभिषेक किया और बेलपत्र, धतूरा, चंदन, दुग्ध, दही और शहद से भोले का वंदन किया। कानपुर के आंनदेश्वर मंदिर में देर रात से ही शिवभक्तों की लंबी कतार लग चुकी थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बेरोजगारों को देता था पुलिस में भर्ती का लालच

बशीरहाट : बशीरहाट पुलिस सुपर के नाम पर नकली ई-मेल आईडी बनाकर नौकरी के लिए आवेदन करने वालों को ठगने की शिकायत पर बशीरहाट थाने आगे पढ़ें »

30 जून तक करदाताओं को जारी हुआ 62,361 करोड़ रुपये का रिफंड

नयी दिल्ली : आयकर विभाग ने आठ अप्रैल से 30 जून के दौरान 20 लाख से अधिक करदाताओं को 62,361 करोड़ रुपये का कर रिफंड आगे पढ़ें »

ऊपर