ममता ने जूनियर डॉक्टरों को दिया अल्टिमेटम, डॉक्टर बोले- शर्तें मानें, काम शुरू कर देंगे

कोलकाता: एनआरएस मेडिकल कॉलेज में चल रही जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल से राज्य में स्वास्थ्य सेवा चरमरायी हुई है। ऐसे में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य के जूनियर डॉक्टरों को 4 घंटे में काम पर लौटने को कहा है। साथ ही यह चेतावनी भी दी है कि अगर वह काम पर नहीं लौटे तो उनपर कार्रवाई की जाएगी। वहीं, डॉक्टरों ने सुरक्षा और कार्रवाई को लेकर मांग रखते हुए कहा है कि जैसे ही उनकी मांगें मान ली जाएंगी, वे काम शुरू कर देंगे।

एसएसकेएम पहुंची ममता

ममता बनर्जी राज्य के विभिन्न हिस्सों में पिछले तीन दिनों से चिकित्सकीय सेवाएं बाधित होने के मद्देनजर गुरुवार को सरकारी एसएसकेएम अस्पताल पहुंचीं। उन्होंने पुलिस को परिसरों को खाली कराने का निर्देश दिया। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि मरीजों के अलावा किसी अन्य को परिसर में जाने की अनुमति नहीं दी जाए। मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि यह आंदोलन प्रतिद्वंद्वी दलों के षड्यंत्र का हिस्सा है। ममता के पास स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय का भी प्रभार है।

डॉक्टरों के आंदोलन को भाजपा का षड्यंत्र बताया

ममता ने कहा, ‘जूनियर डॉक्टरों का आंदोलन माकपा और भाजपा का षड्यंत्र है।’ ममता ने दावा किया कि बाहर के लोग चिकित्सकीय कॉलेजों और अस्पतालों में व्यवधान डालने के लिए घुस आए हैं। कोलकाता के एनआरएस अस्पताल में एक चिकित्सक पर हमला और उसे गंभीर रूप से घायल किए जाने की घटना के बाद से चिकित्सक मंगलवार से आंदोलन कर रहे हैं। उन्होंने ममता के सामने ‘‘हमें न्याय चाहिए’’ के नारे भी लगाए। प्रदर्शन के मद्देनजर पिछले दो दिनों में राज्य में कई सरकारी चिकित्सकीय कॉलेजों एवं अस्पतालों और कई निजी चिकित्सकीय सुविधाओं में आपातकालीन वार्ड, बाह्य सुविधाएं और कई रोगविज्ञान इकाइयां बंद हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

प्रवासी मजदूरों के बीच मुफ्त अनाजों का वितरण अपेक्षा से काफी कम हुआ : पासवान

नयी दिल्ली : खाद्य आपूति एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने गुरुवार को स्वीकार किया कि प्रवासी मजदूरों के बीज मुफ्त अनाजों आगे पढ़ें »

दिल्ली में 87 वर्ष की पत्नी व 90 वर्ष के पति ने दी कोरोना को मात

नयी दिल्ली : दिल्ली में 87 साल की महिला और अल्जाइमर से पीड़ित उनके 90 वर्षीय पति ने कोरोना वायरस को मात दे दी है आगे पढ़ें »

ऊपर