भारत में किशोरियों की विवाह दर में 51 प्रतिशत की कमी

नई दिल्लीः भारत में कुरीतियों की बात की जाए तो किशोरियों के विवाह को लेकर सबसे ज्यादा उंगलियां उठती रही हैं। लेकिन समय के साथ परि‌स्थितियों में सुधार आता जा रहा है। यूके के ‘सेव द चिल्ड्रन’ एनजीओ की सालाना ग्लोबल चाइल्डहुड की रिपोर्ट सामने आई है। जिसमें बताया गया है कि भारत में साल 2000 से अब तक 15 से 19 साल की लड़कियों की विवाह दर में 51 प्रतिशत की गिरावट आई है। इसके साथ ही बच्चों की सेहत, शिक्षा, श्रम, और शादी जैसे मानकों पर भी देश की स्थिति बेहतर हुई है।

बच्चों-किशोरों से जुड़े हर क्षेत्र में हुआ सुधार

रिपोर्ट के अनुसार भारत ने बच्चों और किशोरों से जुड़े अधिकतर क्षेत्रों में बेहतर प्रदर्शन किया है जिसका परिणाम साफ साफ देखा जा सकता है। पिछले 19 सालों में देश में किशोरों के माता-पिता बनने की दर में भी 63 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है। जो 1990 के मुकाबले करीब 75 प्रतिशत कम है। इसी के चलते इंडेक्स में भारत का स्कोर 137 अंक बढ़कर 769 पहुंच गया है।

भारत में बदलाव का दुनिया पर असर

कम उम्र में शादियों की घटती संख्या का ही नतीजा है कि किशोरियों के मां बनने की संख्या में करीब 20 लाख की कमी आई है। साल 2000 में जहां 35 लाख किशोरियां मां बनती थीं, वहीं फिलहाल यह संख्या घटकर 14 लाख पर आ गई है। भारत में किशोरियों के मां बनने की दर में कमी का असर पूरी दुनिया पर हुआ है। यह संख्या एक-तिहाई तक घट गई है। अगर स्थिति में बदलाव नहीं होता तो भारत में करीब 90 लाख किशोरियां शादीशुदा होतीं। 176 देशों में की गई इस रिसर्च में बच्चों को मिलने वाली स्वास्थ्य सुविधाएं, शिक्षा, पोषण जैसे मानकों को मापा गया। इसके अलावा बाल श्रम और बाल विवाह जैसी कुरीतियों का भी विश्लेषण किया गया है।

ग्रामीण क्षेत्रों में अभी और सुधार बाकी

शहरी क्षेत्रों में सुधार होने के बावजूद कई ग्रामिण क्षेत्र अभी भी इन समस्याओं से काफी हद तक जूझ रहे हैं। जहां शहरी इलाकों में किशोरियों की विवाह दर 6.9 प्रतिशत है, वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में यह लगभग दोगुनी 14.1 प्रतिशत है। रिपोर्ट में कहा गया है कि बच्चों का जीवन सुधारने में भारत ने काफी काम किया है, लेकिन जब तक शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के बीच अंतर को खत्म नहीं किया जाएगा, तब तक यह समस्या बढ़ी रहेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्या सच में आज रात आ रहा है विजय माल्या भारत ?

नयी दिल्ली : देश के 17 बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपये गबन कर भागे विजय माल्या के आज रात किसी भी वक्त भारत में आगे पढ़ें »

corona

बंगाल में कल से आज कुछ कम आए संक्रमण के मामले

कोलकाता : बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के मंगलवार की तुलना में आज (बुधवार) को 340 मामले आए है जबकि मंगलवार आगे पढ़ें »

ऊपर