बांग्लादेशी अभिनेत्री अंजू घोष ने थामा भाजपा का हाथ, नागरिकता पर बवाल

कोलकाताः भाजपा में इन दिनों नए-नए चेहरों के शामिल होने का दौर चल रहा है। इसमें अब बांग्लादेशी अभिनेत्री अंजू घोष का नाम भी शामिल हो चुका है। बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने अंजू को पार्टी की सदस्यता दिलाई। जिसके बाद विपक्षी खेमे में खलबली मची हुई है। दरअसल इससे पहले लोकसभा चुनाव में दो बांग्लादेशी कलाकार ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस का प्रचार करने भारत आए थे, लेकिन भाजपा की शिकायत के बाद चुनाव आयोग की कार्रवाई के तहत उन्हें देश छोड़ के जाना पड़ा। अब तृणमूल ने अंजू की नागरिकता को लेकर सवाल उठाए हैं।

बता दें कि भले ही अंजू का जन्म बांग्लादेश में हुआ हाे लेकिन उनके पास भारत का पासपोर्ट और साल 2002 से ही वोटर लिस्ट में नाम भी है। इसके साथ ही वो इस बार के लोकसभा चुनाव में वोट भी दे चुकीं हैं।

राष्ट्रीयता के दावे गलत

तृणमूल ने अंजू के राष्ट्रीयता के दावों को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि अभी तक अंजू घोष की राष्ट्रीयता के दावे पर स्पष्ट जानकारी नहीं है तो कैसे राष्ट्रीय पार्टी उन्हें अपना सदस्य बना सकती है। तृणमूल नेता दीप्तांशु चौधरी ने तंज कसते हुए ट्वीट किया, ”भाजपा जल्द ही भारतीय जनता से बांग्लादेशी जनता पार्टी हो जाएगी। दिलीप घोष जी बांग्लादेशी अभिनेत्री को पार्टी में शामिल करना आपका सही फैसला है। भाजपा सही मायनों में राष्ट्रवादी है।”

बता दें कि अंजू घोष को तीन दशक पहले आयी बांगलादेशी फिल्म ‘बेदेर मेय जोसना’ से पहचान मिली थी। जिसमें उन्होंने मुख्य भूमिका निभाई थी। यह फिल्म 9 जून 1989 को रिलीज हुई थी। इसके दो साल बाद पश्चिम बंगाल में फिल्म का रीमेक बना और यह फिर से वह एक बहुत बड़ी हिट साबित हुई।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ऊपर