नवजात को नबालिग ने खिड़की से फेंका,आरोपी फूफा गिरफ्तार

Newborn thrown

शिमला : हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में एक ऐसी शर्मनाक घटना सामने आई है जिसे सुनकर लोगो के होश उड़ गए। एक नाबालिग मां ने अपने ही नवजात शिशु को अस्पताल के शौचालय की खिड़की से बाहर फेंक दिया। मालूम हो कि नाबालिग के फूफा ने उसके साथ दुष्कर्म करके उसे गर्भवती कर दिया था। हालांकि पुलिस ने आरोपी फूफा को गिरफ्तार कर लिया है।

जानें क्या है मामला

जानकारी के मुताबिक शिमला जिला के रोहड़ू अस्पताल में बुधवार को जब सफाई कर्मचारी साफ-सफाई कर रहे थे तब उन्होंने ग्राउंड फ्लाेर के शौचालय की खिड़की के बाहर एक नवजात बच्ची का शव देखा। इस बात की जानकारी अस्पताल के प्रबंधकों को दी गयी जिन्होंने फौरन इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने इस मामले की जांच शुरु करते हुए अस्पताल के रिकार्ड चेक करना शुरु किया। उन्हें यह जानकर हैरानी हुई कि मंगलवार को कोई गर्भवती महिला को भर्ती नहीं किया गया है जिसके बाद सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की जांच शुरु की गयी।

काफी समय से करता आ रहा था रेप

कड़ी प्रत्यन के बाद रोहड़ू के चिड़गांव थाना क्षेत्र में पुलिस ने उस नाबालिग को खोज निकाला जिसने दो दिन पहले अस्पताल में नवजात को जन्म दिया था। पूछताछ पर पंद्रह वर्षीय नाबालिग ने पुलिस को बताया कि उसका फूफा लंबे समय से उसके साथ दुष्कर्म करता आ रहा है जिस कारण वह गर्भवती हो गई थी। नाबालिग को डिलेवरी के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था जिसके बाद उसने शौचाालय में ही बच्ची को जन्म दिया था। शर्मसार होने के डर से लड़की ने यह बात अपने घरवालो को नहीं बतायी। डीएसपी सुनील नेगी ने सपष्ट करते हुए कहा कि आरोपी फूफा ही है जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है। केस को पॉक्सो एक्ट और आईपीसी की धारा 376 के तहत दर्ज किया गया है और इस पर कारवाई चल रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

दो मामलों में विधायक अनंत सिंह के खिलाफ पेशी वारंट

पटना : बिहार के भागलपुर जेल में बंद मोकामा से निर्दलीय विधायक अनंत कुमार सिंह की उपस्थिति के लिए पटना की एक विशेष अदालत ने आगे पढ़ें »

दरभंगा के किसानों को कृषि फीडर से मिलेगी निर्बाध बिजली

दरभंगा : बिहार में किसानों को डेडीकेटेड कृषि फीडर के माध्यम से सिंचाई के लिए निर्बाध विद्युत आपूर्ति उपलब्ध कराये जाने के प्रयासों के तहत आगे पढ़ें »

ऊपर