चार-चार हत्याओं के अभियुक्तों की गिरफ्तारी न होने से खफा जाट समुदाय ने दी चुनाव बहिष्कार की धमकी

चित्तौड़गढ़ : चित्तौड़गढ़ जिले के चंदेरिया थाना क्षेत्र में जाट समाज की दो महिलाओं सहित पिता-पुत्र की हत्याओं में अब तक किसी अभियुक्त की गिरफ्तारी नहीं होने पर क्रुद्ध ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि यदि पुलिस ने सात दिन में ठोस कदम नहीं उठाये तो लोकसभा चुनाव का मतदान किया जायेगा। सूत्रों के अनुसार क्षेत्र के ग्राम दौलतपुरा में 20 दिन पूर्व हुई पिता पुत्र की हत्या एवं उससे पूर्व ओड़ूंद एवं रोलाहेड़ा में दो महिलाओं की हत्याओं का अब तक पर्दाफाश नहीं होने पर जाट समाज के लोग चित्तौड़गढ़ विधायक चंद्रभानसिंह और कपासन के पूर्व विधायक बद्रीलाल जाट के नेतृत्व में जिला कलॅक्टर से मिले और ज्ञापन दिया। ज्ञापन में कहा गया है कि गत पांच मार्च को दौलतपुरा में 17 वर्षीय मुकेश जाट की लाठियों एवं धारदार हथियार से हत्या कर दी गयी। पांच दिन बाद ही उसके पिता देवीलाल की भी संदिग्ध परिस्थितियों में विषाक्त पदार्थ के सेवन से मौत हो गयी। परिजन इसे जहर पिला कर हत्या करना बता रहे हैं, जबकि पुलिस इसे आत्महत्या मान रही है। इससे पूर्व भी ओड़ूंद में हुड़ीबाई जाट तथा रोलाहेड़ा में लेहरीबाई जाट की भी हत्या हो गयी, लेकिन पुलिस ने अब तक इन चारों हत्याओं में लिप्त किसी भी अभियुक्त को गिरफ्तार नहीं किया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ऊपर