कल्याण परिवार के लिए खास है अलीगढ़ की महत्वपूर्ण सीट

2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को जबरदस्त सफलता मिली थी और अलीगढ़ लोकसभा सीट पर

पार्टी नेताओं को करीब ढाई दशक पहले मुख्यमंत्री बने कल्याण सिंह और उनके परिवार का जादू फिर से चलने की उम्मीद है

नयी दिल्लीः भाजपा राज्य में भले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेहरे को आगे रखकर चुनाव लड़ रही हो लेकिन राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण अलीगढ़ जिले को पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की प्रतिष्ठा से भी जोड़कर देखा जा रहा है जहां उनकी परंपरागत विधानसभा सीट अतरौली से उनके पौत्र किस्मत आजमा रहे हैं।
वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में जिले की सातों सीटों पर हार के बाद वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को जबरदस्त सफलता मिली थी और अलीगढ़ लोकसभा सीट पर भाजपा उम्मीदवार ने बड़े अंतर से जीत का स्वाद चखा। स्थानीय नेताओं और उम्मीदवारों को उम्मीद है कि इस बार वे मोदी के चेहरे को आगे रखकर लोकसभा चुनाव की तरह ही जीत हासिल करेंगे और रविवार को अलीगढ़ में प्रधानमंत्री की रैली उनकी संभावनाओं को और मजबूत करेगी। वहीं पार्टी नेताओं को करीब ढाई दशक पहले मुख्यमंत्री बने कल्याण सिंह और उनके परिवार का जादू फिर से चलने की उम्मीद है। करीब डेढ़ दशक से पार्टी अलीगढ़ में अपने खोये आधार को हासिल करने की जुगत में है तो दूसरे दलों के नेता भी अपनी जीत के दावे कर रहे हैं। सपा, कांग्रेस, बसपा के साथ ही अजित सिंह की राष्ट्रीय लोक दल को भी इस बार अपने उम्मीदवारों की जीत की उम्मीद है जिसने पिछले विधानसभा चुनाव में जिले की 3 सीटों पर जीत हासिल की थी।
अलीगढ़ से भाजपा सांसद सतीश गौतम ने माना कि इस चुनाव से पूर्व मुख्यमंत्री और राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह की प्रतिष्ठा जुड़ी है और सभी विधानसभाओं पर उनके तथा मोदी के प्रभाव का लाभ पार्टी को मिलेगा। अलीगढ़ शहर के साथ अतरौली विधानसभा भी पार्टी के लिए खास मायने रखती है जहां पिछली बार कल्याण सिंह और उनके पुत्र राजवीर सिंह ने भाजपा से अलग अपनी किस्मत अपनायी और उन्हें इसका खामियाजा भुगतना पड़ा और सपा की किस्मत यहां पहली बार चमकी थी।  सपा विधायक वीरेश यादव ने अतरौली सहित जिले में जीत का दावा किया। अतरौली में इस बार कल्याण सिंह के पौत्र और एटा से भाजपा सांसद राजवीर सिंह के पुत्र संदीप सिंह भाजपा के प्रत्याशी हैं। इस सीट पर कल्याण सिंह 9 बार भाजपा से और एक बार राष्ट्रीय क्रांति पार्टी से यानी कुल 10 बार विधायक रहे हैं तथा वर्ष 2007 से 2012 तक उनकी पुत्रवधू प्रेमलता यहां से निर्दलीय विधायक रहीं।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

डोमकल में तृणमूल नेता की धारदार हथियार से हत्या

मुर्शिदाबाद : चुनाव प्रचार कर मोटरसाइकिल से लौट रहे तृणमूल कांग्रेस नेता की अज्ञात अपराधियों ने धारदार हथियार से हमला कर हत्या कर दी। यह घटना डोमकल थाना अंतर्गत साहोदियार इलाके में सोमवार की रात 10 बजे घटी। [Read more...]

बाबुल के गाने पर मचा बवाल, चुनाव आयोग ने किया शाे कॉज

कोलकाता : केंद्रीय मंत्री व आसनसोल के सांसद बाबुल सुप्रियो द्वारा रिकॉर्डिंग किये गये भाजपा के चुनाव प्रचार गाने काे लेकर बवाल मच गया है। इसे लेकर बाबुल सुप्रियो के खिलाफ आसनसोल थाना में शिकायत दर्ज करवाये [Read more...]

मुख्य समाचार

मारुती सुजुकी ने घटाई उत्पादन, जानिए क्या है वजह…

नई दिल्ली : देश की बड़ी कार विनिर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) ने मांग में कमी आने के कारण पिछले महीने फरवरी में अपना उत्पादन आठ प्रतिशत घटाया है. कंपनी ने शेयर बाजार में सुचना भेजी है, जिसमें कहा [Read more...]

चीन के खिलाफ देशभर में व्यापारियों का प्रदर्शन, जलाई चीनी सामान की होली

नई दिल्ली : हाल ही मैं चीन द्वारा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में चौथी बार मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने पर वीटो का उपयोग करने और एक लंबे अर्से से पाकिस्तान की हर प्रकार की मदद करने पर [Read more...]

ऊपर